हैज (माहवारी, M.C.) वाली औरत को हज के दौरान क्या करना चाहिए?

0
58
Islamic Palace App

हैज (माहवारी, M.C.) वाली औरत को हज के दौरान क्या करना चाहिए?

आइशा रज़ि. से रिवायत है, उन्होंने फ़रमाया कि हम सब मदीना से सिर्फ हज के इरादे से निकले

और जब मकामे सरीफ पर पहुंचे तो मुझे हैज आ गया।

रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि व सल्ल्म मेरे पास तशरीफ़ लाये तो मैं रो रही थी,

आप (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्ल्म) ने फ़रमाया, तुम्हारा क्या हाल है? क्या तुझे हैज आ गया है?

मैंने अर्ज़ किया जी हाँ! आपने फ़रमाया कि यह मामला

तो अल्लाह तआला ने हज़रत आदम अलैहि. की बेटियों पर लिख दिया है।

इसलिए हाजियों के सब काम करती रहो, अलबत्ता काबा का तवाफ़ न करना।

आइशा रज़ि. ने फ़रमाया, रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्ल्म ने अपनी बीवियों की तरफ से एक गाय की क़ुरबानी दी।

फायदे :

मालूम हुआ कि हैज वाली औरत बैतुल्लाह के चक्कर के अलावा दीगर हज के अरकान अदा करने की पाबन्द है।

(मुख़्तसर सहीह बुखारी, सफ़ा 163)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY