भीख माँगने वाले की सज़ा जानिए हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने क्या फ़रमाया

0
21
Islamic Palace App

भीख माँगने की सज़ा

हज़रत अब्दुल्ला इब्ने उमर (रज़ी०) से रिवायत है कि-
रसूल अल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया कि जो शख्श मर्द हो या औरत हमेशा लोगों से भीख मांगता रहेगा तो वह क़यामत के रोज़ इस हाल में होगा कि उसके मुंह पर गोश्त कि बोटी न होगी, उसका चेहरा उघड़ा हुआ होगा। और जो शख्श सवाल करने से बचता रहे तो अल्लाहतआला उसको माँगने से बचता है। और जो खख्श सवाब न करे और अपने बेपरवाही ज़ाहिर करे तो अल्लाहतआला उसको लोगों से बेपरवाह कर देता है।

(बुखारी व मुस्लिम)
और जो शख्श भूखा हो और तंगदरुस्त हो, लोगों से अपनी हालत छुपाये वह अल्लाहतआला का प्यारा दोस्त हो जाता है और अल्लाहतआला के ज़िम्मे उसका यह हक़ हो जाता है कि उसको हलाल तरीके से एक साल तक की रोज़ी का इन्तज़ाम कर दे। और अल्लाहतआला उस बन्दे को बहुत पसन्द करता है जो ग़रीब हो ताबेदार हो, अयालदार हो।

(इब्नेमाजा)

फायदा- माँगने का पेशा अख़्तियार करना बेशर्मी का तरीक़ा है, इससे बचना चाहिए।

(बाग़े-जन्नत यानी ख़ुदाई बाग़, सफा न० 319)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY