दुनिया आख़िरत के मुक़ाबले में इतनी सी है तुम में से कोई अपनी ऊँगली समन्दर में डाले

0
64
DUNIYA AAKHIRAT KE MUQABLE ME ITNI SI HAI TUM ME SE KOI APNI UNGLI SAMANDAR ME Dale
makkah
Islamic Palace App

DUNIYA AAKHIRAT KE MUQABLE ME ITNI SI HAI TUM ME SE KOI APNI UNGLI SAMANDAR ME Dale

दुनिया आख़िरत के मुक़ाबले में इतनी सी है तुम में से कोई अपनी ऊँगली समन्दर में डाले

नबी ए करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया: क़सम अल्लाह की! दुनिया आख़िरत के मुक़ाबले में इतनी सी है।

तुम में से कोई अपनी ऊँगली समंदर में डाले फिर निकले और देखे के उस ऊँगली पर कितना पानी लगा है।

(सहीह मुस्लिम,हदीस न०, 7197)

नबी ए करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया: मुसलमान को बीमारी की वजह से अल्लाह तआला उसके गुनाह इस तरह खत्म कर देता है।

जिस तरह आग सोने और चांदी के मेल कुचैल को खत्म कर देती है।

,

(अबू दाऊद, हदीस न०, 3092)

मोमिन की निशानी ये है के ऐसे लोगो की सुहबत में रहे जिन से दीन की इस्लाह हो. (हज़रत उस्मान ए घनी रज़िअल्लाहु तआला अन्हु)

हर चीज़ अपने सही वक़्त पे ही हासिल होती है तो चाहिए के यक़ीन और सबर से काम ले, बेशक अल्लाह सबर करने वालों को पसन्द फरमाता है।

नबी ए करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया:तुम में सब से ज़्यादा महबूब और क़यामत के दिन मेरे क़रीब बैठने वाले वो लोग हैं जो तुम में से अकलाक में अच्छे है।

(जमे तिर्मिज़ी, हदीस न०, 2018)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY