सज्दे में दुआ करना

0
127
SAJDE ME DUA KARNA
Namaz
Islamic Palace App

SAJDE ME DUA KARNA

सज्दे में दुआ करना

जिन वक़्तों में दुआ की क़ुबूलियत का ज़्यादा इमकान होता है उन मैं एक वक़्त नमाज़ के सज्दे का है:

अबू हुरैरह (r.a.) रिवायत करते है की रसूलल्लाह ﷺ ने फ़रमाया,

“बन्दः अपने रब्ब के सब से ज्यादा क़रीब उस हालत में होता है

जब वह सज्दे में होता है,

लिहाज़ा उस में कसरत से दुआ करो.”

(सहीह मुस्लिम, हदीस 482)

दुआ बेहतर है की आप अरबिक में करे लेकिन अगर अरबिक नहीं आती तो खुद की ज़ुबान में भी कर सकते है.

आप ﷺ की सज्दे की दुआ:

अबू हुरैरह (r.a.) रिवायत करते है की रसूलल्लाह ﷺ सज्दे में ये दुआ माँगा करते थे,

“ऐ अल्लाह मेरे सारे गुनाह माफ़ कर दे,

छोटे और बड़े, पहले और आखिर के, खुले हुए और छुपे हुए.”

(सहीह मुस्लिम, हदीस- 483.)

ये दुआ अरबी मैं

‏ اللَّهُمَّ اغْفِرْ لِي ذَنْبِي كُلَّهُ دِقَّهُ وَجِلَّهُ وَأَوَّلَهُ وَآخِرَهُ وَعَلاَنِيَتَهُ وَسِرَّهُ ‏

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY