अपने भाई की ख़ुशी के लिए मुसकराना भी सदका है

0
103
Apnay Bhai Ki Khushi Ke Liye Muskrana Bhi Sadka Hai
muslim brothers
Islamic Palace App

Apnay Bhai Ki Khushi Ke Liye Muskrana Bhi Sadka Hai

अपने भाई की ख़ुशी के लिए मुसकराना भी सदका है

हज़ूर पाक (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़रमाया अपने भाई की ख़ुशी के लिए मुसकराना भी सदका है,

कोई नैक बात कह देना भी सदका है, तुम्हारा किसी को बुरी बात से रुक देना भी सदका है,

जिस शख्स की नज़र कमज़ोर हो उस की मदद कर देना भी सदका है,

रास्ते से पत्थर, कांटा और हदी का हटा देना भी सदका है,

और अपने डोल से अपने भाई के डोल मैं पानी डाल देना भी एक सदका है.

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY