औरतो के लिए रमज़ान के कुछ ख़ास मसाइल

0
1796
Aurato ke liye Ramazan ke Kuch Khaas Masail
ramzan
Islamic Palace App

Aurato ke liye Ramazan ke Kuch Khaas Masail

औरतो के लिए रमज़ान के कुछ ख़ास मसाइल

08- क्या ज़कात खालिस सोने पर लगाएंगे या जेवरात जिस में रंग वगेरा भी शामिल हो, क्या उस रंग के वज़न को

शामिल करते हुए ज़कात लाज़िम होगी और इस तरह से खोट का क्या मसला है?

सोने में जो रंग वगेरा लगते है उन पर ज़कात नहीं क्यों की इनको अलग किया जा सकता है अलबत्ता जो खोट मिला देते

हैं वो सोने के वज़न ही में शुमार होगा, उस खोट मिले हुए सोने की बाजार में जो क़ीमत होगी उसके हिसाब से ज़कात

अदा की जाएगी,

(आपके मसाइल और उनका हाल, 3/365)

09- अगर शौहर की जाती मिलकियत में कोई ज़ेवर ऐसा न हो जिस पर ज़कात वाजिब होती हो, लेकिन जब उसकी बीवी

शादी हो कर उसके घर आये के उस पर ज़कात वाजिबुल अदा हो, और बीवी शौहर के ये हालात जानते हुए के वो मक़रूज़

भी है और उसकी इतनी तनख्वाह भी नहीं के वो ज़कात की रक़म निकाल सके तो क्या शौहर पर बीवी की तरफ से

ज़कात व क़ुरबानी वाजिब रहेगी? और क्या अल्लाह तआला शौहर ही से इसका मुतालबा करेंगे और क्या बीवी ये कहकर

बरी ज़िम्मे हो जाएगी के शौहर ही उनका आक़ा है और उन्ही से सवाल व जवाब किया जाएगा?

चूँकि ज़ेवर बीवी की मिलकियत है इसलिए क़ुरबानी व ज़कात का मुतालबा भी उसी से होगा, और अगर वो अदा नहीं

करती तो गुनहगार भी वही होगी, शौहर से इसका मुतालबा नहीं होगा,

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY