रोज़ा खोलने और रखने की दुआ

0
1224
Roza Kholne aur Rakhne ki Dua
roze ki niyat
Islamic Palace App

रोज़ा रखने की दुआ :

وَبِصَوْمِ غَدٍ نَّوَيْتَ مِنْ شَهْرِ رَمَضَانَ

व बिसवमि गदिनं नवइयतु मिन शहरी रमज़ान

Wa bisawmi ghadinn nawaiytu min shahri ramadan

I intend to keep the fast for tomorrow in the month of Ramadan

[abu Dawud]


रोज़ा खोलने की दुआ :

اللَّهُمَّ اِنِّى لَكَ صُمْتُ وَبِكَ امنْتُ [وَعَلَيْكَ تَوَكَّلْتُ] وَعَلَى رِزْقِكَ اَفْطَرْتُ

अल्लाहुम्मा इन्नी लका सुमतु व बिका आमन्तु [व ‘अलयका तवक्कलतु] व ‘अला रिज़्क़-इका अफ्तारथु

Allahumma inni laka sumtu wa bika aamantu [wa ‘alayka tawakkaltu] wa ‘ala rizq-ika aftarthu

O Allah! I fasted for You and I believe in You [and I put my trust in You] and I break my fast with Your sustenance.

[abu Dawud]


Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया


For More Msgs Click This Link
www.islamicpalace.in

बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजर-ए-अज़ीम ज़रूर देगा
आमीन

►जज़ाकअल्लाह खैरन◄

PLEASE SHARE

LEAVE A REPLY