कुफ्र या गुनाह के वसाविश के वक़्त ये पढ़ना सुन्नत है, वसाविश के वक़्त की सुन्नत

0
72
Islamic Palace App

कुफ्र या गुनाह के वसाविश के वक़्त ये पढ़ना सुन्नत है वसाविश के वक़्त की सुन्नत

  1. अऊज़ु बिल्लाहि मिनश्शेतानिर्रजीम पड़ें और आमन्तु बिल्लाहि व रसूलिहि
  2. दूसरी सुन्नत यह है की ज़ातें हक़ तआला में ग़ौर न करें। तफ़क्कुर का तअल्लुक ख़ल्क़ से है न कि खालिक़ से ।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.