पढ़िए क्या है ईदुलअज़हा (बकराईद) के दिन खाने का बयान

0
131
Islamic Palace App

बराअ बिन आज़िब रज़ि. से रिवायत है, उन्होंने कहा कि मैंने नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्ल्म को खुतबे में इशारा फरमाते सुना, आपने फ़रमाया कि आज के इस दिन में पहला काम जो हम करेंगे, वह यह कि नमाज़ पढ़ेंगे, फिर वापस जाकर क़ुर्बानी करेंगे तो जिसने ऐसा किया, उसने हमारे तरीके को पा लिया।

फायदे : इमाम बुखारी ने इस हदीस पर इन लफ़्ज़ों के साथ उनवान कायम किया है। “मुसलमानों के लिए ईद के दिन पहली सुन्नत का बयान” मुसनद इमाम अहमद, तीरमजी और इबने माजा कि रिवायत में है कि रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि व सल्ल्म ईदुलअज़हा के दिन वापस आकर अपने क़ुर्बानी का गोश्त खाया करते थे।

(औनुलबारी, 1/74)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.