जानिए जिन और शैतान क्या बाला हैं

1
712
Jinn Or Shaitan Kya Bala Hain
Devil
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Jinn Or Shaitan Kya Bala Hain

जिन और शैतान क्या बाला हैं

अल्लाहतआला ने कुछ मखलूक आग से पैदा करके हमारी नज़रों से उनको ढक दिया है। इनको जिन कहते हैं।

वह हमको देखते हैं, हम उनको नहीं देख सकते। उनमें अच्छे और बुरे हर तरह के होते हैं। उनके औलाद भी होती हैं।

उन सब में ज़्यादा मशहूर और शारीर शैतान है।

उसका क़िस्सा यह है कि उसने आठ लाख बरस ख़ुदा की इबादत की

और आसमानो ज़मीन में एक बालिश्त भर कोई जगह ऐसी नहीं कि जहाँ उसने सज़दा न क्या हो।

इस क़दर इबादत की वजह से उनका नाम फ़रिश्तों में अज़ाज़ील मशहूर हो गया था।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

जब अल्लाह तआला ने हज़रत आदम (अ०) को पैदा किया तो फ़रिश्तों को और शैतान को हुक्म दिया कि आदम को सजदा करें।

सब फ़रिश्तों ने सजदा किया और शैतान ने बड़ाई और ग़ुरूर की वजह से सजदा न किया।

अल्लाहतआला ने फ़रमाया कि ऐ इब्लीस ! तूने हमारे हुक्म से आदम को सजदा न किया।

शैतान ने कहा कि में आदम से अच्छा हूँ। मुझे तूने आग से पैदा किया है

और आदम को एक सड़ी हुई मिट्टी से, फिर मैं इस हक़ीर व ज़लील को कैसे सजदा करता?

अल्लाहतआला ने फ़रमाया- ऐ शैतान! तूने हमारी नाफ़रमानी की और तूने तकब्बुर किया।

बस दूर हो जा हमसे और निकल जा हमारी जन्नत से कि तू काफ़िर हो गया।

कयामत तक दूर तुझ हमारी लानतें और फटकार है।

शैतान बहुत खूबसूरत था। मगर उसी वख्त अल्लाह तआला की नाराज़गी

और लानत का यह असर हुआ कि उसकी सूरत बदल गयी।

आँखें उसकी छाती पर आ गयीं और लानत का तोक हमेशा के लिए गले में पड़ गया

और नाम शैतान रक्खा गया।

फिर शैतान ने कहा- ऐ रब! मैं तो आदम की वजह से मारा ही गया। मुझको मोहलत दे कि मैं कयामत तक ज़िन्दा रहूँ।

आदम और उसकी औलाद मुझे न देखे और मैं उनके खून और गोश्त में घुस जाया करूँ।

हुक्म हुआ- ये दरख़ववस्त तेरी क़बूल की और तुझको मोहलत दी।

शैतान ने कहा कि बस, अब मेरा काम गया, मुझे भी तेरी इज़्ज़त की क़सम है कि आदम से

और उसकी औलाद से बदला लूँगा और उनको तेरे हुक्मों से रोकूंगा मगर जो तेरे ताबेदार बन्दे होंगे वह मेरे मूकरो फरेब में नहीं आयेंगे।

अल्लाह तआला ने फ़रमाया कि तू सच कहता है।

खूब सुनले, हम भी सच कहते हैं। जो कोई तेरी ताबेदारी करेगा हम उसको और तुझको दोज़ख़ में डाल देंगे।

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

1 COMMENT

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.