घर से दूर रहने का उसूल जानिए क्या है

0
109
Allah ki Madad tumhare liye kyun nahi
Makkah
Islamic Palace App

Ghar se durr rehne ka usool

Ghar se durr rehne ka usool

घर से दूर रहने का उसूल

इस हदीस के तहत उलमा-ए-किराम ने यह मसला लिखा है कि

जो आदमी शादी शुदा हो उसको किसी सख्त ज़रूरत के बग़ैर अपने घर से ज्यादा समय तक दूर न रहना चाहिए,

इसमें खुद अपनी भी हिफ़ाज़त है और घर वालों की भी हिफ़ाज़त है कियोंकि अल्लाह तआला ने हमें ऐसा दीन आता फ़रमाया है

जिसमें तमाम सिम्तों और तमाम जानिबों की रियायत है,

यह नहीं कि एक तरफ को झुकाव हो गया और दूसरे पहलू निगाहों से ओझल हो गये,

बल्कि इस दीने इस्लाम के अन्दर एतीदाल है और इसी लिये इसको दरमियानी उम्मत से ताबीर फ़रमाया।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

इसलिये एक तरफ तो यह फरमा दिया कि दीन सीखने के लिये अच्छी सोहबत उठाओ

लेकिन दूसरी तरफ यह बता दिया कि ऐसा न हो कि

अच्छी सोहबत उठाने के नतीजे में दूसरों के जो हुकूक तुम्हारे जिम्मे हैं

वे पामाल होने लगें बल्कि दोनों बातों की रिवायत करनी चाहिये।

चुनांचे उन हज़रात से फ़रमाया कि बीस दीन तक यहां क़ियाम कर लिया

और जरुरी बातें तुमने इन दिनों के अन्दर सीख लीं अब तुम्हारे जिम्मे तुम्हारे घर वालों के हुकूक हैं और खुद तुम्हारे अपने हुकूक हैं इसलिये

(दीन सीखने और सीखने का तरीक़ा सफ़ा न०11)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.