मशाइख यानी पीरों का तरीका कैसा हैं?

0
66
Mashaikh yani Peeron ka Trika Kaisa hai?
Mashaikh yani Peeron ka Trika Kaisa hai?
Islamic Palace App

Mashaikh yani Peeron ka Trika Kaisa hai?

Mashaikh yani Peeron ka Trika Kaisa hai?

मशाइख यानी पीरों का तरीका कैसा हैं?

जैसे हज़रत इमाम आज़म और हज़रत इमाम शाफ़ेई

और हज़रत इमाम मालिक और हज़रत इमाम अहमद रह० क़ुरआन व हदीस का हुक्म

और मतलब बतलाने वाले थे , उसी तरह नफ़र के संवारने वाले

और अल्लाह तआला की याद के तरीके बतलाने वाले और क़ुरआन व हदीस पर अमल कराने वाले मशाइख यानी पिरान-ए-आज़म थे

उन्होंने अपने दिल को रोशनी से समझकर अल्लाह और रसूल की मोहब्बत

और अताअत में दुनिया से तशरीफ़ ले गये मशाइख बहुत हुए मगर उनमे से चार बहुत मशहूर है ।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

  1. हज़रत शाह अब्दुलक़ादिर जिलानी
  2. हज़रत शाह मोइनउद्दीन अजमेरी
  3. हज़रत शाह बहाउद्दीन नक्शबन्दी
  4. हज़रत शाह शाहबुद्दीन सहरवर्दो ( रह० )।

इन चारों पीराने उज़्ज़म के सिलसिले और तरीके जारी है।

इन पीरों के तरीके में मुरीद होकर अपने नफ़्ल को सँवारने

और अल्लाह तआला की याद और मोहब्बत दिल बगैर में बसावे।

सुबहान अल्लाह ! पीराने उज़्ज़म के तरीके नूर ही नूर हैं।

देखो बगैर पीर कामिल के आदमी संवर नहीं सकता।

जैसे बगैर उस्ताद के हासिल नहीं हो सकता।

अगर अल्लाह को राज़ी करना चाहने हो तो उस्ताद कामिल यानी पीर का दामन पकड़ों। मौलाना रोम फरमाते हैं ।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

बे इनायात हक व ख़ासाने हक गर मलक बाशद सिया हस्तश वरक।

यानी बगैर खुदा की मेहरबानी और उसके प्यारे बन्दों की मेहरबानी के अगर कोई फरिश्ता भी हो।

जाये तब भी उसका अमलनामा सियह होगा।

(बाग़े-जन्नत यानी ख़ुदाई बाग़ सफ़ा न० 37)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.