नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के रोज़े रखने और न रखने का बयान।

0
102
Junbi Ke Liye Roze Ka Waqt
Junbi Ke Liye Roze Ka Waqt
Islamic Palace App

Nabi Sallallahu Alaihi Wasallam ke roze Rakhne or na rakhne ke bayan

Nabi Sallallahu Alaihi Wasallam ke roze Rakhne or na rakhne ke bayan

नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के रोज़े रखने और न रखने का बयान।

अनस रज़ि० से रिवायत है कि

उनसे रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के रोज़ों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया,

जब मैं चाहता कि किसी महीने मैं नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को रोज़े की हालत मैं देखूं

तो आपको इफ्तार की हालत मैं देखूं तो इसी हालत मैं देख लेता।

इस तरह रात को जब चाहता कि आपको नमाज़ मैं खड़ा हुआ

और जब चाहता आपको सोया हुआ देख लेता और मैंने कोई रेशम

और मखमल रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की हथेलियां से ज्यादा नर्म नहीं देखा

और न ही मैंने कोई मुश्क और अम्बर रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के पसीने की खुशबू से ज्यादा खुशबूदार सूंधा।

फायदा- इबादात मैं दरमियाँ और ऐतदाल इसलिए था कि इबादात करने वाले आसानी के साथ आपके तरीके पर अमल पेरा हो सकें,

अगरचे आप इल्तेजाम और पाबन्दी के साथ यह इबादात बजा लाने की ताकत रखने थे।

(औनुलबारी 2\840)

अब्दुल्लाह बिन उम्र बिन आस रज़ि कि हदीस (596)

फायदे:

हजरत अब्दुल्लाह बिन अम्र बिन आस रज़ि कसरत से रोज़े रखा करते थे तो आपने इसे ऐतदाल के साथ रोज़े रखने की तलकीन की थी चुनांचे हजरत अब्दुल्लाह रज़ि० जब बूढ़े हो गये तो कहा करते थे कि काश मैं रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के कहने पर अमल करके रुखसत कबूल कर लेता।

 (मुख़्तार सहीह बुख़ारी, सफ़ा 731)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.