जब कपड़ा तंग हो तो उसमें कैसे नमाज़ पढ़ें

0
116
Barche walon ka masjid mein dakhil hona
Barche walon ka masjid mein dakhil hona
Islamic Palace App

Tang Kapdo mein namaz kaise padhen?

Tang Kapdo mein namaz kaise padhen?

जब कपड़ा तंग हो (तो उसमें कैसे नमाज़ पढ़ें?)

जाबिर रज़ि से रिवायत है उन्होंने फ़रमाया कि मैं नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के साथ एक सफर में था।

रात को किसी जरुरी काम के लिए (आप के पास) आया तो देखा कि आप नमाज़ पढ़ रहे हैं।

(उस वक्त) मेरे ऊपर एक ही कपड़ा था। मैंने उसे अपने बदन पर लपेटा

और आपके पहलू में खड़ा होकर नमाज़ पढ़ने लगा। जब आप फारिग हुए तो फ़रमाया

ऐ जाबिर! रात के वक्त कैसे आये? मैंने अपनी जरुरत बताई,

जब मैं अपने काम से फारिग हुआ तो आपने फ़रमाया यह कपड़ा लपेटना कैसा था जो मैंने देखा है?

मैंने अर्ज़ किया मेरे पास एक ही कपड़ा था।

आपने फ़रमाया अगर लम्बा-चौडा हो तो उसे लपेट लें और अगर तंग हो तो सिर्फ तहमन्द बना ले।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

फायदे:

मुस्लिम कि रिवायत में है कि कपड़ा ज्यादा तंग था और हज़रत जाबिर उसे पहनकर इसलिए आगे को झुके हुए थे कि कहीं सतर न खुल जाये।

रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने जब उन्हें इस हालत में देखा तो फरमाया कि

किनारों को उलटकर पहनना उस वक्त है जब कपड़ा लम्बा-चौड़ा हो तो, तंग होने की सूरत में उसे तहबन्द (लुंगी) के तौर पर पहनना काफी है।

(औनुलबारी, 1/491)

सहल बिन सअद रज़ि से रिवायत है, उन्होंने फरमाया कि लोग नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के साथ

अपनी चादरें बच्चों की तरह गर्दनों पर बांधें नमाज़ पढ़ते थे

और औरतों को हिदायत की जाती कि जब तक अपने मर्द सीधे होकर बैठ न जायें जब तक अपने सर सज्दे से न उठायें

फायदा

यह अहतमाम इसलिए किया जाता है कि औरतों कि नजर मर्दों के सतर पर न पड़े।

(औनुलबारी 1 /492)

(मुख़्तसर सही बुखारी सफ़ा न० 194)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.