बीवी से जमा (हम-बिस्तरी) के इरादे के वक़्त की दुआ, क्यूंकि शैतान का नुत्फ़ा भी…

0
1993
Biwi Se Hum Bistari Ke Irade Ke Waqt Ki Dua
Biwi Se Hum Bistari Ke Irade Ke Waqt Ki Dua
Islamic Palace App

Biwi Se Hum Bistari Ke Irade Ke Waqt Ki Dua

बीवी से जमा (हम-बिस्तरी) के इरादे के वक़्त की दुआ

بسم الله اللهم جنبناالشيطان و جنب الشيطان مارزقتنا

“बिस्मिल्लाही अल्लहुम-म जननिबिनाशशैतान व जननि बिनाशशैता न मारजक्त-ना०”

(Bismillah, Allahumma jannibna-sh-shaitan, wa jannibi-sh-shaitan ma razaqtana)

तर्जुमा –

मैं अल्लाह का नाम लेकर यह काम करता हूँ। ऐ अल्लाह! हमे शैतान से बचा और जो औलाद तू हम को दे, उससे (भी) शैतान को दूर रख।

इस दुआ को पढ़ लेने के बाद उस वक़्त की हम-बिस्तारी से जो औलाद पैदा होगी, शैतान उसे भी नुकसान न पहुंचा सकेगा।

फायदा :

इसको ज़रूर पढ़ना चाहिए क्यूंकि हम-बिस्तारी के वक़्त अल्लाह का नाम न लेने से

शैतान का नुत्फ़ा भी मर्द के नुत्फ़े साथ अंदर चला जाता है।

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.