अल्लाह तआला को वह अमल बहुत पसन्द है जो हमेशा किया जाये।

0
276
Duniya ke bare mein maal jama karne ka nuksan
Makkah
Islamic Palace App

Allah Tala ko veh amal bohut pasand hi jo hamesha kiya jaye

अल्लाह तआला को वह अमल बहुत पसन्द है जो हमेशा किया जाये।

आइशा रज़ि. से रिवायत है कि नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम एक बार उनके पास तशरीफ लाये,

वहां एक औरत बैठी थी। आपने पूछा यह कौन है?

आइशा रज़ि. ने कहा कि यह फलां औरत है और उसकी (बहुत ज्यादा) नमाज़ का बयान करने लगीं।

आपने फरमाया रुक जा! तुम अपने जिम्मे सिर्फ वही काम रखो जो (हमेशा) कर सकती हो।

अल्लाह कि कसम! अल्लाह तआला सवाब देने से नहीं थकता, तुम इबादत करने से थक जाओगे

और अल्लाह तआला को सबसे ज्यादा पसन्द फरमा बरदारी का वह काम है.

जिसका करने वाला उस पर हमेशगी बरते

फायदे: दरमियान चल के साथ नेक अमल पर हमेशगी बरतनी चाहिए,

नीज यह भी मालूम हुआ कि इबादत करते वक्त बहुत सख्ती उठाना एक नापसन्दीदा काम है।

(अत्तहज्जुद: 15)
(मुख्तसर सही बुखारी, सफ़ा न० 43)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.