एक फ़र्ज के बारे में जमात के इरादे से मस्जिद जाना

1
144
Ek farz ke bare mein jamat ke irade se masjid jana
Madina
Islamic Palace App

Ek farz ke bare mein jamat ke irade se masjid jana

एक फ़र्ज के बारे में जमात के इरादे से मस्जिद जाना

रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया:

जो शख्स अच्छी तरह वुज़ू करे फ़िर मस्जिद में नमाज़ के लिए जाए

और वहां पहुँच कर मालूम हो के जमात हो चुकी,

फिर भी उस को जमात का सवाब होगा

और उस सवाब की वजह से उन लोगों के सवाब में कुछ कमी नहीं होगी,

जिन्होंने जमात से नमाज़ पढ़ी है।”

(अबू दाऊद: 564 अन अबी हुरैरा रज़ि.)

(पांच मिनट का मदरसा, सफ़ा न० 721)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

1 COMMENT

  1. Oh my goodness! an amazing article dude. Thank you However I am experiencing challenge with ur rss . Don’t know why Unable to subscribe to it. Is there anybody getting equivalent rss drawback? Anyone who knows kindly respond. Thnkx

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.