जानिए अज़ान की इब्तिदा कबसे शुरू हुई और पहली अज़ान किसने दी थी

0
205
How did the days of azan start
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

How did the days of azan start

How did the days of azan start

When the mosque was ready, then for the people to collect prayers to pray from the time of fasting,

Sahab started offering his own ideas to Allahabad-Elihida. Hajrat Umar Farooqe Azam Razi Allahu Anhu and Hazrat Abdullah bin Zaid mentioned the Ajaz heard in the night.

Sallallahu Alaihi wasallam said to Hazrat Bilal Rasi Allahu Anhu to give the same Azan. From there, Ajna’s ibidah happened.

(Tareekhe Alam, SAFA No. 129)

Follow Us:-

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you


अज़ान की इब्तिदा

जब मस्जिद बन कर तैयार हो गई तो जमाअत से नमाज़ पढ़ने के लिए लोगों को इकट्ठा करने के लिए सहाबा किराम ने अलाहिदा-अलहिदा अपनी अपनी तज्वीज़ें पेश कीं।

हज़रत उमर फारुक़े आज़म रज़ि अल्लाहु अन्हु और हज़रत अब्दुल्लाह बिन ज़ैद ने एक साथ ख़वाब में सुनी हुई अज़ान का ज़िक्र किया।

आप (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने हज़रत बिलाल रज़ि अल्लाहु अन्हु को वही अज़ान देने का हुक्म दिया। वहीँ से अज़ान की इब्तिदा हुई।

(तारीख़े आलम, सफ़ा न०129)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.