एक गुनाह के बारे में : जो क़ुर्बानी की ताकत रखता हो और क़ुर्बानी न करे तो वह ईदगाह में न आये

0
72
Ek sunnat ke bare mein musalman bhai se gale milna
Eidgah
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Regarding one crime Waeed on Qurbani

Regarding one crime Waeed on Qurbani : Rasoolullah (Sallallahu alaihi wasallam) said:

“If the person who has the power to perform Qurbani, do not Qurbani it in spite of him, then he should not come to our Eidgah.”

(Mustadrak lil hakim : 3468, An Abi Huraira Razi)

Advantage: It is reasonable to sacrifice money at the cost of anyone,

if anyone does not pass it, then it will be guilty.

(Sirf Panch Minute Ka madarsa : Safa no. 684)

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you


Hindi Translation

एक गुनाह के बारे में : क़ुर्बानी न करने पर वईद

रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़र्माया : “जो आदमी क़ुर्बानी करने की ताकत रखता हो, उस के बावजूद क़ुर्बानी न करे, तो वह हमारी ईदगाह में न आये।”

(मुस्तदरक लिल हाकिम : 3468, अन अबी हुरैरा रज़ि)

फ़ायदा : साहिबे निसाब पर क़ुर्बानी करना वाजिब है, अगर किसी ने क़ुर्बानी न की तो गुनहगार होगा।

(सिर्फ पांच मिनट का मदरसा : सफ़ा न० 684)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY