मदीना के महलों का बयान।

0
108
Miracles of Prophet Muhammad Sallallahu Alaihi Wasallam The cure of the mad boy
Madina
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Statement of Medina Palace

Statement of Medina Palace : Osama bin Zaid Razi said,

“The Prophet (sallallahu alaihi wasallam) said on the palace of the Medina,

if you go to the palace, do you see what I see?

Of course, I see in your homes such a way as if the rocks of the rain appear to fall,

that is, they will be like rain in the exercise.

Advantages:

This ruling of Rasoolullah (sallallahu alaihi wasallam) has been completed.

Ever since the ages under the cover of the rituals Shaheed,

since then, serious causes have started.

The Elections The shadow of martyrdom proved to be the result of those results.

(Mukhtasar Sahi Bukhari, Safa No 697)

Follow Us

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you


मदीना के महलों का बयान।

उसामा बिन जैद रज़ि. से रिवायत है,

उन्होंने कहा की नबी (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) मदीना के महलों में से किसी महल पर चढ़े तो फ़रमाया,

क्या तुम वह देखते हो जो मैं देख रहा हूँ?

बेशक मैं तुम्हारे घरों में फ़ितनों के मक़ामात इस तरह देख रहा हूँ,

जैसे बारिश का कतरा गिरने की जगह नजर आती है,

यानी वो फ़ितने कसरत में बारिश की तरह होंगे।

फायदे:

रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) का यह फरमान हु-बहु पूरा हुआ।

जब से फ़ितनों की आड़ में हज़रत उम्र रज़ि. शहीद किये गये,

उस वक्त से गंभीर फ़ितनों का आगाज हुआ।

चुनांचे हज़रत उसमान रज़ि. की मज़लूमाना शहादत उन्ही फ़ितनों का नतीजा साबित हुई।

(मुख़्तसर सही बुखारी,सफ़ा न० 697)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.