औरतों की इज़्ज़त और शहादत

0
77
Woman's Respect and shahadat
Women In makkah
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Woman’s Respect and shahadat

Woman’s Respect and shahadat : Irshad Farmaya Rasool Allah (Sallallahu Alaihi Wasallam)

Woman ! Are you not happy that when one of you is invited to your adversary and his adherents are willing to do so,

then he gets such a rumor that as the person who performs the fast of Allah,

the person who meets the worshiper all night is.

And when he begins to feel painful, then for the cold of his eyes,

Allah has hidden such things that the people of the land and the sky are not aware of it.

And when the child is born and gives milk to the child,

then when a child drinks a sip of milk and every time he sucks,

he gets a good reputation and because of his child,

if he has to wake up in the night, he gets the chance to free seventy slaves is.

And from the start of the woman to the birth of childbirth and milk,

we get such status as the protector of Islam,

the Mujahid meets on the outskirts and if a woman dies in this decimation,

then she gets the status of shahadat.

(Ibn Majah)

(Baghe Jannat  i.e. Khudaai Bagh, Safa No 130)

Follow Us

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you


Hindi Translation

औरतों की इज़्ज़त और शहादत

इरशाद फ़रमाया रसूल अल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने कि-

ऐ औरतो! क्या तुम इस बात पर खुश नहीं हो कि जब तुममें से कोई अपने शौहर से हामला होती है

और उसका शौहर उस से राज़ी हो तो उस को ऐसा सवाब मिलता है

कि जैसा अल्लाह के वास्ते रोज़ा रखने वाले को और सारी रात इबादत करने वाले को मिलता है।

और जब उसको दर्द-जेह शुरू होता है तो उस की आँखों की ठण्डक के लिए अल्लाहतआला ने ऐसा सामान छुपा कर रक्खा है

कि ज़मीन व आसमान के रहने वालों को उसकी खबर नहीं।

और जब वह बच्चा जनती है और बच्चे को दूध पिलाती है

तो बच्चे के एक घूँट दूध पीने पर और हर बार चूसने पर उसको एक नेकी मिलती है

और बच्चे की वजह से उसको रात में जागना भी पड़े तो उसको सत्तर ग़ुलाम आज़ाद करने का सवाब मिलता है।

और औरत को शुरू हमल से लेकर बच्चे के जनने और दूध छुड़ाने तक ऐसा दर्जा मिलता है

जैसा इस्लाम की हिफ़ाज़त करने वाले मुजाहिद को सरहद पर रहने से मिलता है

और अगर औरत इस दर्मियान में मर जाये तो उसको शहादत का दरजा मिलता है।

(इब्ने माजा)

(बाग़े जन्नत यानी ख़ुदाई बाग़, सफ़ा न० 130)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.