एक अहेम अमल की फ़ज़ीलत ऐसी जो क़यामत के दिन आपको बचा सकती है

0
49
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

The Fazilat of an Amal which can save you on the Day of Judgment

The Fazilat of an Amal which can save you on the Day of Judgment :

एक अहेम अमल की फ़ज़ीलत ऐसी जो क़यामत के दिन आपको बचा सकती है

एक अहेम अमल की फ़ज़ीलत अल्लाह को याद करना

रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़र्माया: “अल्लाह तआला क़यामत के दिन फ़र्माएगा के दोज़ख से हर उस (मोमिन) शख्स को निकाल लो, जिस ने मुझे कभी याद किया हो, या किसी जगह मुझ से डरा हो।:”

(तिर्मिज़ी:24514, अन अनस रज़ि.)

(सिर्फ पांच मिनट का मदरसा, सफ़ा न० 680)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया


The Fazilat of an important Amal which can save you on the Day of Judgment

The fazilat of An amal Remembering Allah

Prophet (Sallallahu Alaihi Wasallam) Said: “O Allah, take away every person who has ever remembered me, or is afraid of me somewhere from the hell of the Day of Judgment.”

(Tirmidhi: 24514, An Anas Razi.)

(Sirf Panch Minute Ka Madarsa, Safa no 680)

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.