दुनिया के बारे में दुनिया ही को मक्सद बना लेने का नुक्सान जानिए कितना है

0
77
Allah ki narazgi musibar ka sabab hai
Makkah
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

The loss of the Mind only the world

The loss of the Mind only the world :

दुनिया के बारे में दुनिया ही को मक्सद बना लेने का नुक्सान जानिए कितना है

रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़र्माया:

“जिस का मक्सद दुनिया बन जाए, तो अल्लाह तआला उस के मुआमलात को बिखेर देता है

और उस की गुरबत और मोहताजगी को उस आँखों के सामने कर देता है (जिस से वह हमेशा डरता रहता है)

और उस को दुनिया उतनी ही मिलती है जितना उस के मुकद्दर में है और जिस आदमी का मक्सद आख़िरत हो,

तो अल्लाह तआला उस के कामों को समेत देते हैं

और के दिल को ग़नी (यानी मुतमइन) कर देते हैं और दुनिया उस के पास ज़लील हो कर आती है।”

(इब्ने माजा 4905, अन ज़ैद बिन साबित रज़ि.)

(सिर्फ पांच मिनट का मदरसा, सफ़ा न० 674)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया


English Translation

The loss of the Mind only the world

Prophet (Sallallahu Alaihi Wasallam) Said:

“Whose mind becomes the world, then Allah will scatter them in the face of it

and make his love and compassion in front of those eyes (by which he is always afraid)

And he gets the world as much as it is in the laws of his life, and the person whose mind is finished,

then Allah gives them all the work and the heart of the person (ie, gloomy) Nia comes to be humiliated by him. ”

(Ibn Maja 4905, An zaid bin Sabit Razi.)

(Only five minutes of Madarsa, Page No. 674)

Follow Us

Click here to like our Facebook page …

Thank you very much for all of you to like ISLAMIC PALACE. If you do not like it, then, to get rid of all the important issues related to this kind of oppression and Islam, definitely, please attach to this page the Islamic Palace, and send as many people as possible through share. thank you

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.