हज्जतुल विदा के मौके पर रसूल अल्लाह ﷺ का खुत्बा…

0
416
Hajjatul Wida Ke Mouke Par Rasool Allah Ka Khutba
Khutbah-Hajjatul-Widaa
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Hajjatul Wida Ke Mouke Par Rasool Allah Ka Khutba

हज्जतुल विदा के मौके पर रसूल अल्लाह का खुत्बा…

मफ़हूम-ए-हदीस: हज्जतुल विदा के मौके पर रसूल” अल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने मुसलमानो से आखिरी खुत्बा इरशाद फ़रमाया।

“ए लोगो शायद आईन्दा साल या फिर कभी तुमसे यहाँ मुलाक़ात न हो सके,

जो तुमसे गरीब है उन्हें वही खिलाओ जो तुम खाते हो, वही पहनाओ जो तुम पहनते हो,

के सब को अल्लाह ही की तरफ लौटना है,

और वो तुमसे तुम्हारे अमाल का हिसाब लेगा,

जो मौजूद है वो उन्हें बतादो जो मौजूद नहीं है,

के तुम सब एक आदम की औलाद हो और तुम में सबसे बेहतर वो है जिसे अल्लाह का खौफ है,

मै जो कुछ कहो उसे गौर से सुनो “अय्याम-ए-जाहिलियत के मखतूलिन का कसास और दियत दोनों ख़त्म की जाती है”

याद रखो हर मुसलमान दूसरे मुस्लमान का भाई है,

और तमाम मुसलमान आपस में भाई-भाई है,

मुसलमानो में रंग, नलस और कबीले का कोई इम्तेयाज नहीं,

कोई मुसलमान किसी दूसरे के माल पर नाजायज़ तस्सरूफ़ नहीं करेगा,

वरना यह एक दूसरे पर ज़ुल्म हो जायेगा,

लोगो गौर से सुनो जो चीज़ मै तुम” में चोरी जा रहा हो,

वो चीज़ निहायत वजह और रोशन है,

और वो है अल्लाह की पाक किताब और उसके रसूल की सुन्नत, अगर उसे मज़बूती से पकडे रहो तो कभी ठोकर न खाओगे।

फिर आपने तकमील-ए-दीन के हवाले से इस आयात की तिलावत फ़रमाई,

अल-क़ुरआन: बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम!

“आज के दिन हमने तुम्हारे लिए दीन को मुक्कमल कर लिया,

और अपनी नेमत हमने तुम्हरे लिए तमाम कर दी, और तुम्हारे लिए दीन-ए-इस्लाम को पसंद कर लिया”।

(सूरेह- मैदाह आयात- 3)

 

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.