कुवारी लड़की का निकाह न किया जाये जब तक उसकी रज़ामन्दी न हासिल कर ली जाये?

0
202
“Kuwari Ladki Ka Nikaah N Kiya Jaye Jab Tak Uski Razamandi N Hasil kar Li Jaye
“Kuwari Ladki Ka Nikaah
Islamic Palace App

Kuwari Ladki Ka Nikaah N Kiya Jaye Jab Tak Uski Razamandi N Hasil kar Li Jaye

कुवारी लड़की का निकाह न किया जाये जब तक उसकी रज़ामन्दी न हासिल कर ली जाये?

लड़की की निकाह के लिए रज़ामन्दी

मफ़हूम-ए-हदीस: अबू हुरैरा व अब्दुल्लाह बिन अब्बास (रज़ि’अल्लाहु अन्हु) से रिवायत है के,

रसूल-ए-करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया:-

“कुवारी लड़की का निकाह न किया जाये जब तक उसकी रज़ामन्दी न हासिल कर ली जाये

और उसका चुप रहना उसकी रज़ामन्दी है,

और न निकाह करा जाये बेवह (Widow) का जब तक उससे इजाज़त न ली जाये।

(तिर्मिज़ी शरीफ जिल्द 1, सफ़ा 566)

मफ़हूम-ए-हदीस: हज़रते आयशा (रज़ि अल्लाहु अन्हा) ने अर्ज़ किया

“या रसूल अल्लाह! कुवारी लड़की तो निकाह की इजाज़त देने में शर्माती है,।

आप (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़रमाया:-

“उसका खामोश हो जाना इजाज़त है।

(बुखारी शरीफ, जिल्द 3, सफ़ा 76, हदीस न० 124, बाब नो, 71)

मफ़हूम-ए-हदीस: अबू हुरैरा (रज़ि’अल्लाहु अन्हु) से रिवायत है की,

रसूल-ए-अकरम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया

“बालिग़ कुवारी लड़की से उसके निकाह की इजाज़त ली जाये

अगर खामोश हो जाये तो ये उसकी तरफ से इजाज़त है,

अगर इन्कार करे तो उस पर कोई जबरदस्ती नहीं

(तिर्मिज़ी शरीफ, हदीस नo.1101, जिल्द-1, सफ़ा-567)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.