दीन में नया अक़ीदा शान-इ-रिसालत में खयानत है

0
62
Qurbani Ke Janwaro Me Kitne Aadmi Shareek Ho Sakte Hai?
masjid-e-nabvi
Islamic Palace App

Deen Mein Naya Aqeeda Shan-E-Risalat Mein Khayanat Hai

दीन में नया अक़ीदा शान-इ-रिसालत में खयानत है

बुजुर्गाने दीन के अक़वाल: इमाम मालिक (रहिमहुल्लाह) आपने शागिर्द शाफ़े’यी (रहिमहुल्लाह) को फरमाते है। की

“रसूल’अल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम) और उनके सहाबा-इ-किराम (रज़ि”अल्लाहु अन्हुमा) के दौर-ए-हयात में जो चीज़ “दीन की आयेतबार से क़ुबूल नहीं था।

वो चीज़ आज भी दीन नहीं समझा जायेगा।

जिसने दीन के नाम पर इस्लाम में कोई अमल (बिदअत) जारी किया और उसे खैर (बिदाते हसना) समझा,

गोया की उसने ये मान लिया के अल्लाह के रसूल (सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम) पर जो रिसालत नफीस हुयी थी उसे पहुँचाने में

(आपने) खयानत की”

(नउजुबिल्लाह)

अल इन्साफ ,सफ़ा न० 32

किताब उल ऐतिसाम , जिल्द 50, सफ़ा 2

मिन्हाज उल वाज़ेह, पेज नo.16

बिददत के ताल्लुक से तफ्सीली जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे

बिददत की हकीकत

इन’श’अल्लाह उल अज़ीज़ !!!
अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त हम तमाम को बिददतो के फित्नों ये, आमीन

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.