ये वो लोग होंगे जो अल्लाह पर मुकम्मिल तवक्कुल रखते थे।

0
83
Shukriya Ada Karney ka Huqm Aur Fazilat
Allah
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Ye Wo Log Hongey Jo Allah Par Mukammil Tawakkul Rakhte They

ये वो लोग होंगे जो अल्लाह पर मुकम्मिल तवक्कुल रखते थे।

मफ़हूम-इ-हदीस: अल्लाह के नबी (सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम) फरमाते है-

मुझे जिब्राईल (अलैहि सलाम) ने जन्नत में एक बड़ा महल दिखाया,

जब में उसमे दाखिल होने लगा तो मेरे साथ मेरी उम्मत के 70 हज़ार लोग दाखिल हो गए जो बगैर

हिसाब किताब के जन्नत में जायेंगे।

सहाबा ने पूछा “या रसूलल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम)। वो कौन लोग थे ?

आप (सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम) ने फ़रमाया “ये मेरे उम्मत के वो लोग थे

जो अच्छे और बुरे वक्त में अल्लाह की ज़ात पर तवक्कुल रखते और कहते के जो कुछ है

अल्लाह की तरफ से होता है, हम अल्लाह के शाकिर (शुक्र गुजर) है।

(सहीह बुखारी , भाग 7, हदीस न० 5705)

गौर करनेवाली बात है मेरे अज़ीज़ो!

अल्लाह से मायूसी हमे तमाम किस्म के फ़िटनो में मुलव्विस करती है,

जबकि अल्लाह पर तवाकुल रखने वाले दुनिआ और

आख़िरत में हकीकी कामियाब होने वाले है।

इस अहादीस में उन् हज़रात के लिए नशिस्त है

जो अपनी दुनिया वी छोटी बड़ी जरूरतों को पूरी करने अल्लाह के अलावा गैर से मन्नते-मुराद करते है,

हालांकि वो इनके नफा और नुकसान का कुछ भी इख़्तियार नहीं रखते।

इन’श’अल्लाह-उल-अज़ीज़।

अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त हम कहने सुन’ने से ज्यादा अमल की तौफीक डे।

हमे दीन का सही इल्म हासिल करने और उसपे अमल की तौफ़ीक़ डे।

जब तक हमे ज़िंदा रखे इस्लाम और ईमान पर ज़िंदा रखे।

खत्म हमारा ईमान पर हो।

व आखीरु दवना अनिलहम्दुलिल्लाहे रब्बिल आ अमीन।

Follow us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.