ए अल्लाह! मैने तेरे ही सामने सर झुका दिया और तुझ पर ईमान लाया

0
92
Dua Ibadat Ka Maghaz Hai …. ♥ Mafhoom-e-Hadees: Anas-Bin-Malik (Razi’Allahu Anhu) Se Riwayat Hai Ke, Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Ka Farmane Hai Ke – “Dua Ibadat Ka Maghaz (Brain) Hai”. – (Tirmizi, Kitaab Al-Doawat, Jild: 5, Page:243, Hadith:3382) • Sabaq: Dua Ibadat Ka Maghaz Isliye Hai Ke – Dua Mangne Wala Har Ek (1) Se Alag Ho Kar Apne Rab Ki Bargah Me Munajaat (Tareef) Karta Hai. – (Faiz Al-Qadeer, Jild: 3, Page: 721)
Allah
Islamic Palace App

Aye ALLAH ! Mainey Tere Hi Samne Sir Jhuka Diya Aur Tujh Par Iman Laya

ए अल्लाह! मैने तेरे ही सामने सर झुका दिया और तुझ पर ईमान लाया

मफ़हूम-ए-हदीस: इब्ने अब्बास (रज़ि अल्लाहु अन्हु ) से रिवायत है

रसूल अल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) रात को अल्लाह से ये दुआ किया करते थे।

ए अल्लाह! तेरे ही लिए तारीफ़ है, तो आसमान और ज़मीन का रब है, और तेरे ही लिए हम्द है,

तो आसमान और ज़मीन का क़ायम करने वाला है और उन सब का जो कुछ उस में है,

तेरे ही लिए हम्द है तो आसमान और ज़मीन का नूर है, तेरा क़ौल सच्चा है और तेरा वादा सच्चा है और तेरी मुलाक़ात सच्ची है और जन्नत सच है, दोज़ख सच है और क़यामत भी सच है,

ए अल्लाह! मैने तेरे ही सामने सर झुका दिया और तुझ पर ईमान लाया

मैने तेरी ही ऊपर भरोसा किया और तेरी ही तरफ रुजू किया,

मैने तेरी ही मदद के साथ मुक़ाबला किया और मैं तुझ ही से इंसाफ का तलबगार हूँ।

तो मेरी मगफिरत फरमा उन तमाम गुनाहो से जो मैं पहले कर चूका हूँ और जो बाद में मुझसे होने वाले हैं,

जो (गुनाह) मैने छुप कर किये और जो खुले आम किये ( वो माफ़ फरमा), तू ही मेरा माबूद है तेरे सिवा और कोई इबादत के लायक नहीं

(सहीह बुखारी, जिल्द 8, 7385)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.