इल्म गायब नहीं होता जब तक के छुपाया न जाये

0
119
Ilm Gayab Nahi Hota Jab Tak Ke Chupaya Na Jaaye
Quran
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Ilm Gayab Nahi Hota Jab Tak Ke Chupaya Na Jaaye

इल्म गायब नहीं होता जब तक के छुपाया न जाये

मफ़हूम-ए-हदीस: अबू हुरैरा (रज़िअल्लाहु अन्हु) से रिवायत है कि,

नबी-ए-पाक (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) से मैंने पूछा –

“या नबी (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम)! कौन है वह सबसे किस्मत वाला जिसको आप का वसीला (शाफ़ा) मिलेगा क़यामत के रोज़?”

आप (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फ़रमाया –

“सब से किस्मत वाला जो मेरा वसीला (शफ़ाअत) हासिल करेगा क़यामत कि रोज़ वो होगा जो अपने दिल से यह क़ुबूल करेगा कि, अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं”।

फिर उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ ने अबू बकर बिन हैं को लिखा “हदीस का इल्म रखो और उसे लिखते रहना, क्यूंकि मै डरता हु
कि इल्म गायब हो जायगा और इल्म वाले लोग सारे मर (शहीद हो) जायेंगे।

नबी-ए-करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) कि हदीस कि हिफाज़त करो और नबी-ए-करीम (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) कि हदीस के
इलावा कोई और चीज़ मत मानो।

इल्म को दूसरे से बातों और जाहिलो को सिखाओ क्यूंकि इल्म गायब नहीं होता जब तक इल्म को छुपा के न रखा जाए”।

(सही बुखारी, किताब-उल-इल्म 3, हदीस -98,99)

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.