रोज़ी और बरकत किस घर की तरफ तेज़ी से दौड़ती है

5
1260
QAZAA NAMAAZO KI ADAAYGI KA AASAAN TAREEQA
Quran
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Rozi Aur Barkat

रोज़ी और बरकत

मफ़हूम-ए-हदीस: नबी-ए-पाक (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) इरशाद फरमाते हैं –

“रोज़ी और बरकत उस घर की तरफ तेज़ी से दौड़ती है
जिस में मेहमान के साथ खाना खाया जाता है”

(इब्ने मजह)

मफ़हूम-ए-हदीस: नबी-ए-पाक (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) इरशाद फरमाते हैं के –

“बरकत तुम्हारे बुज़ुर्गों के साथ है”

(अल-मजमा-उल-औसत , भाग 6, सफ़ा 342, हदीस-8991)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

5 COMMENTS

  1. Having read this I believed it was rather enlightening.

    I appreciate you spending some time and effort to put this article together.
    I once again find myself personally spending a lot of time both reading and
    posting comments. But so what, it was still worthwhile!

  2. I’ve learn several good stuff here. Definitely worth bookmarking for revisiting.
    I surprise how much effort you set to make any such wonderful informative web site.

  3. Just wish to say your article is as amazing. The clarity in your post
    is simply great and i can assume you are an expert on this subject.
    Fine with your permission let me to grab your RSS feed to keep up to date with forthcoming post.
    Thanks a million and please continue the enjoyable work.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.