घर की पहरेदारी (Safety) के लिहाज़ से कुत्ते को पालना कैसा है?

0
331
Safety ke lihaz se kutte ko Rakhna kaisa hai
dog for home safety
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

Ghar ki Safety ke lihaz se kutte ko Rakhna kaisa hai

घर की पहरेदारी (Safety) के लिहाज़ से कुत्ते को पालना कैसा है?

1. इस्लाम मैं सिर्फ 3 मक़ासिद के लिए कुत्ता पालने की इजाज़त है

a) शिकार के लिए

b) खेती खल्यान या घर की हिफाज़त के लिए

c) जानवरों के रेवर की हिफाज़त के लिए

2. एक हदीस का मफ़हूम है के जिस घर में जानदारों की तस्वीरें और कुत्ते हों उस घर में रहमत के फरिश्ते नहीं आते।
अब जिस घर में रहमत के फरिश्ते ही न आयें उस घर पर अल्लाह की रेहमत कैसे होगी।

3) कुत्ते के मुँह का लुआब (थूक) नापाक है। जिस बर्तन, कपड़े को कुत्ता मुँह लगा दे वह बर्तन और लिबास नापाक हो जाता है।
लेहाज़ा एक नमाज़ी मुसलमान कभी भी अपने साथ अपने घर में कुत्ते को रख ही नहीं सकता के कुत्ते की आदत है हर चीज़ को मुँह लगाना

लेहाज़ा सिर्फ और सिर्फ मज़्कूरह बाला 3 मक़ासाद (ज़रूरतों) के लिए ही कुत्ता पाला जा सकता है।
और वह भी घर के बहार खेत और खल्यान में, नाह के घर के अंदर।

ऊपर की बात से मालूम होता है कि

घर की हिफाज़त के लिए कुत्ता होगा तो वह घर के अंदर नहीं, बल्कि घर के बहार होना ज़रूरी है, यानी मैन गेट के नज़दीक, या बाघ मैन होगा। उसका केनल भी बहार ही कहीं हो।

और वह रात को मालिक के साथ चिमट कर सोने के बजाय घर के बहार चौकीदारी करे।

ऐसे कुत्ते को हिफाज़त का कुत्ता कहा जाता है।

  • लिहाज़ा इस बात को देखा जाये तो कुत्ता पालना घर की हिफाज़त (safety) के लिहाज़ से सही है लेकिन उसे घर के बहार रखें।

अक्सर देखा गया है के कुत्ता हिफाज़त के नाम पे लिए गया,

लेकिन वह इतना लाडला हो गया के बिस्तर पे भी मालिकों के बीच सो रहा है

और उन्ही की टेबल पे साथ बैठ कर खाना भी खा रहा है।

  • ऊपर लिखी बात से मालूम हुआ के कुत्ते को अपने नज़दीक इतना लाडला न बनायें 

के उसे अपने साथ खाने पीने रहने सोने के लिए साझा करें,

इस हालत में वह हिफाज़त का कुत्ता नहीं कहा जायेगा बल्कि गॉड लिए बच्चा कहा जायेगा।

कुत्ता दुनिया में हर जानवर और हर ज़िंदा की तरह अल्लाह तआला की मख्लूक़ में से है, इसको तकलीफ पहुँचाना भी हराम है

और इसकी ज़रोरिआत मसलन खाने पानी से सर्फ़-ए-नज़र करना भी हराम है, और दूसरी जानिब इसको घर मैन दाखला देना भी हराम है।

यह तो आप समझते होंगे के अगर घर पे इन्सानी चौकीदार भी रखा होता तो

वह घर के फारद की तरह उसी टेबल पे सब के साथ खाना,

पूरे घर मैन दनदनाते फिरना,

घर के मेहमानों के साथ दोस्ती करना,

अंदर बैडरूम मैन सोना, वग़ैरा नहीं करेगा।

इसी तरह कुत्ते को भी घर की हिफाज़त के लिए रखना सही है लेकिन घर के बहार

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.