नमाज़ में सात (7) बातें फ़र्ज़ हैं नहीं तो नमाज़ नहीं होगी

0
372
NAMAZ ME SAAT (7) BATEN FARZ HAIN NAHI TO NAMAZ NAHI HOGI
Namaz
Islamic Palace App

Click here to Install Islamic Palace Android App Now

NAMAZ ME SAAT (7) BATEN FARZ HAIN NAHI TO NAMAZ NAHI HOGI

नमाज़ में सात (7) बातें फ़र्ज़ हैं नहीं तो नमाज़ नहीं होगी

“अस्सलामुअलैकुम वरहमतुल्लाहि व बारकातुहु”

अगर नमाज़ के अंदर इन में से कोई एक भी छूट जाये थो नमाज़ होती ही नहीं, दुबारा पढ़ना फ़र्ज़ होगा।

1. तक्बीरे तहरीमा: ये शर्त भी है, और एक तरह से फ़र्ज़ भी

2. क़ियाम: तमाम फ़र्ज़, ईदैन, वित्र और फज्र की सुन्नत

इन नमाज़ों में क़ियाम यानि खड़े होकर नमाज़ पढ़ना फ़र्ज़ है।

अगर कोई खड़े होकर सिर्फ ‘अल्लाहु-अकबर’ कह सकता है,

उस से ज़ियादा नहीं खड़ा रह सकता, तोह वह खड़ा हो कर रकअत बंधे,

उसके बाद ताकतना होतो बैठ जाये, बैठे बैठे ही अगर उसने रकअत बांधली तो नमाज़ नहीं होगी।

3. किरात: यानि फ़र्ज़ की दो रकतों में,

और बाक़ी तमाम नमाज़ों की हर रकअत में काम से काम एक आयात, तजवीदौर माखरिज के साथ पढ़ना फ़र्ज़ है

4. रुकू: यानि इतना झुकना के हाथ लम्बे करें तो आसानी के साथ घुटनो तक पहुँच जाये सर, पीठ और दोनों पैर बिलकुल सीधे रखे

5. सजदा: (सुन्नत तरीक़ा पेशानी, नाक, दोनों हाथों के पंजे, दोनों घुटने, और दोनों पैरों के पंजे ज़मीन पर अच्छी तरह टिक जाये

[बुखारी, किताबुल-अज़ान: बाब; अससुजूद अलल-अनफ]

पैर की कम से काम एक ऊँगली का पेट ज़मीन पर लग्न शर्त है

6. का’दे आखीरा: यानि नमाज़ की तम्माम रकअतें मुकम्मल करलेने के बाद इतनी देर बैठना के तशह्हुद यानि पूरी अत्तहिय्यात पढ़ सकें

7. ख़ुरूज बी सुन’एहि: यानि नमाज़ पूरी करने के इरादे से कोई ऐसा काम करना जिस से नमाज़ ख़त्म होजाये। और इसके लिए ‘सलाम फेरना’ वाजिब है।

[बहरे शरी’अत जिल्द 3]

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.