क्रिसमस डे और नई साल के बारे में हिदायत

0
81
Christmas Day Aur New Year Ke Bare Me Hidayat
Christmas Day
Islamic Palace App

Christmas Day Aur New Year Part-1

Christmas Day Aur New Year Ke Bare Me Hidayat

क्रिसमस डे और नई साल के बारे में हिदायत

हुज़ूर का इरशाद है जिस ने जिस क़ौम की मुशाबिहात (Comparing) इख़्तियार की उस का हश्र उसे के साथ होगा.

मिश्कत .

1.अपने बच्चों को तालीम दो के Christmas Day की वजह से Santa Claus का रूप यानी उस की दाढ़ी, टोपी, लिबास न इख़्तियार करे ऐसा करना बड़ा गुनाह है अगर बच्चा नाबालिग है तो उस को गलत तरबियत देने का या निगरानी न करने का गुनाह वालिदैन के नामह ए आमाल में लिखा जायेगा.

2.ईसाईयों के इस नए साल की मुबारकबादी देना यानी Happy New Year, WelCome 2018 कहना या By By 2017 वगैरह जुमले कहना नसारा की मुशाबेहत और उन के तेहवार और ख़ुशी में शिरकत हो जाने की वजह से सख्त गुनाह है.

3.31st December की रात को होटल, पार्क,पुल, बिच वगैरह जगा ख़ुशी मानाने जाना और पार्टी में शरीक होना या इन लोगों को या आतिशबाज़ी को देख़ने जाना जाइज़ नहीं इन चीज़ों से ईमान चले जाने का अंदेशा है.

बाज़ किताबों में ऐसे मज़हबी खुशियों में शिरकत पर कुफ्र के फतवे दिए गए है लिहाज़ा खुद बचे और अपने क़रीब के लोगों भी बचाये.

मुफ़्ती इमरान साहब

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY