वालिदैन की खिदमत जन्नत का सबब है

0
132
Walidain ki Khidmat Jannat ka Sabab Hai
balidain
Islamic Palace App

Walidain ki Khidmat Jannat ka Sabab Hai

वालिदैन की खिदमत जन्नत का सबब है

ﺃَﻋُﻮْﺫُ بِاللَّهِ مِنَ الشَّيْطَانِ الرَّجِيمِ
بِسْمِ اللَّهِ الرَّحْمَٰنِ الرَّحِيمِ
اَلصَّلاَةُ وَالسَّلَامُ عَلَيْكَ يَا رَسُولَ اللّٰهِ،

वालिदैन का अपनी औलाद पर कितना हक़ है

हदीस-ए-मुबारक का मफ़हूम है के हज़रते अबू उमामह رضي الله تعالٰی عنه से रिवायत हैं की एक आदमी आया और उस ने अर्ज़ किया :

“या रसूल अल्लाह صلی اللہ تعالٰی علیہ والہ وسلم ! वालिदैन का अपनी औलाद पर कितना हक़्क़ है ?

नबी-ए-करीम صلی اللہ تعالي علیہ والہ وسلم ने इरशाद फ़रमाया :

वह दोनों तेरी जन्नत (भी) हैं और दोज़ख (भी) हैं:-

(यानी उन की खिदमत कर के जन्नत हासिल कर लो या न-फ़रमानी कर के दोज़ख के मुस्तहिक़ हो जाओ ).”

Reference

(सुनन इब्न मजह: हदीस 3662)

हदीस:-ए -मुबारक का मफ़हूम है के हज़रते सय्यदना जाबिर رضي الله تعالٰی عنه से रिवायत है की रसूल अल्लाह صلی اللہ تعالٰی علیہ والہ وسلم ने इरशाद फ़रमाया :

“तमाम नबियों को मेरे हुज़ूर पेश किया गया और हज़रत मूसा दुबले हैं जैसे के वह कोई मर्द शानू ‘यह से हैं .और मैंने हज़रत इसा इब्न मरयम

को देखा और लोगो में सब से क़रीब शक्लो सूरत में उर्वाह बिन मस ‘उद हैं . और मैंने हज़रत इब्राहिम को देखा और लोगो में सब से क़रीब

शक्लो सूरत में तुम्हारा यह साथी है (यानी खुद रसूल अल्लाह صلی اللہ تعالٰی علیہ والہ وسلم) और मैंने जिब्राइल को देखा और लोगो में सब से

क़रीब शक्लो सूरत में दिहयाह इब्न ख़लीफ़ाः अल -कलबी हैं (यानी आप इनकी शक्लो सूरत में ज़मीन पर नाज़िल हुआ करते थे .”
Reference:

(जामिआ अल तिर्मिज़ी : हदीस 4010
Eng ref, भाग. 1, किताब 46, हदीस 3649
Arabic ref. : हदीस 4010)
अल्लाह ﻋﺰﻭﺟﻞ आप पर फ़ज़ल फरमाए!
جزاك الله خيرا…

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलै हि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.