ज़्यादा हसना दिल को मुर्दा बना देता है

0
166
Sab say Khushnaseeb Log
makkah
Islamic Palace App

Zyada Hasna Dil KO Murda kar Deta HAI

ज़्यादा हसना दिल को मुर्दा बना देता है

महफूम-ए-हदीस: रसूल’अल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया–

“ज़्यादा न हसा करो, इस लिए के ज़ियादा हसना दिल को मुर्दा बना देता है”

(Reported by Ibn मजह, न०, 4193, सिलसिलाह अस-सहीह, न०, 506)

हिकमत: बहरहाल इस बात से आप और हम तमाम मुत्तफ़िक़ है।

के हर चीज़ का एक दायरा है! जब तक वो अपने दायरे में हो

तब तक उसमे हमारे लिए खैर है।

और दायरे से बहार निकल गयी तो उसमे सिर्फ शरर ही बाक़ी रह गया,

इसी तरह खुशबकती अच्छी चीज़ है जब तक के ये अपनी हुदूद में हो।

लेकिन जब खुशाली अपने हुदूद को पार कर दे

तब इन्सान के बर्बादियों का बाईस बन जाती है,

तो लिहाज़ा हमे चाहिए के ख़ुशी हो या ग़म शरीयत के हुदूद में रहते इनका हक़ अदा करे,

वरना कही ऐसा न हो के दुनियावी क़हवाहिशाओ में हम इस क़दर मुब्तेला हो जाये

के अकीरात की फ़िक्र से गाफिल रहने लगे,

अल्लाह मेहफ़ूज़ रखे आमीन!

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.