अपने माँ बाप को‘उफ़’तक न कहना

0
168
Eid Milad Un Nabi Ke Din Jhande (Flags) Lagana – Hadith
Allah
Islamic Palace App

Apne Maa Baap Ko ‘Uff’ Tak Na Kehna

अपने माँ बाप को‘उफ़’तक न कहना

अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त क़ुरआने करीम में फरमाता है

अल-क़ुरआन: बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम!

और तेरे परवरदिगार ने हुक्म दे रखा है के मेरे अलावा किसी की इबादत न करना, और अपने माँ बाप से अच्छा सुलूक किया करना,

अगर उनमे का एक या दोनों तेरी मौजूदगी में बुढ़ापे को पहुंचे (तो उनकी खिदमत करते हुए) तुम उनको ‘उफ़’ तक भी न कहना और न उनको ज़हीदाकना और न उनको तकलीफ देना

(वरना उनका ज़रा सा भी दिल टूटा तो तेरी खैर नहीं) और मुहब्बत से उनके आगे झुक जाय करना और (उनके लिए दुआ करते हुए) कहा करना की ए मेरे परवर्दिगार!

उन दोनों पर रहम फार्मा, जैसा की उन्होंने मुझे बचपन में पाला पोसा”

(सौराह बानी इजराइल आयात 23-24)

इन्शा’अल्लाह उल अज़्ज़ेज़!
अल्लाह तआला हमे कहने सुनने से ज्यादा अमल की तौफ़ीक़ अता फरमाए!

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.