चुगलखोरी किसे कहते हैं

2
278
Chugalkhori Kise Kehte Hain
Chugalkhor
Islamic Palace App

Chugalkhori Kise Kehte Hain

चुगलखोरी किसे कहते हैं

चुगली :-

या’नी किसी की बात सुन कर किसी दूसरे से इस तौर पर कह देना कि दोनों में इख़्तिलाफ़ और झगड़ा हो जाए।

येह बहुत बड़ा गुनाह और बहुत खराब आदत है।

तजरिबा है कि मर्दों से जियादा औरतें इस गुनाह में मुब्तला हैं।

हदीष शरीफ़ में चुगल खोरी को रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने गुनाहे कबीरा बताया

यहां तक कि एक हदीष में येह आया है कि चुगुल खोर जन्नत में नहीं दाखिल होगा।

( मुस्लिम शरीफ किताब उल ईमान जिल्द 1 पेज नंबर 66)

और एक हदीष में येह भी है कि तुम लोगों में सब से जियादा खुदा के नजदीक

ना पसन्दीदा वोह है

जो इधर उधर की बातों में लगाई बुझाई कर के

मुसलमान भाइयों में इख़्तिलाफ़ और फूट डालता है।

( अल मुसनद इमाम अहमद बिन हंबल 291)

और एक हदीष में येह भी फ़रमाने रसूल है कि चुगल खोर के आखिरत से पहले उस की कबर में अज़ाब दिया जाएगा।

( बुखारी शरीफ जिल्द 1 पैज 95)

इस के इलावा चुगूली की बुराई के बारे में बहुत सी हदीष आई है। मुसलमान भाइयो और बहनो !

किसी की कोई बात सुनो तो खूब समझ लो कि तुम इस बात के अमीन हो गए अगर दूसरों तक इस बात के पहुंचाने में कोई दीनो दुनिया का फ़ाइदा हो जब तो

तुम ज़रूर इस

बात का चर्चा करो लेकिन अगर इस बात को दूसरों तक पहुंचाने में दो हैं मुसलमानों के दरमियान इख़्तिलाफ़ और झगड़े का अन्देशा हो तो खबरदार खबरदार हरगिज़ कभी भी इस बात का न चर्चा करो न किसी दूसरे से कहो

वरना तुम पर अमानत में खियानत करने और चुगल खोरी का गुनाह होगा और इस गुनाह का दुन्या में भी तुम पर येह वबाल पड़ेगा कि तुम सब की निगाहों में बे वकार और जलीलो ख़्वार हो जाओगे
और आखिरत में भी अज़ाबे जहन्नम के हक़दार ठहरोगे।

Allah Ta’Ala Hamen Is Gunah Se Mahfooz Farmaye

Aameen

For More Msgs Click This Link
www.islamicpalace.in

बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजर-ए-अज़ीम ज़रूर देगा
आमीन

►जज़ाकअल्लाह खैरन◄

PLEASE SHARE

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

2 COMMENTS

  1. It is the best time to make some plans for the future and
    it is time to be happy. I have read this post and if I
    could I wish to suggest you few interesting things or suggestions.
    Maybe you could write next articles referring to this article.
    I desire to read more things about it!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.