तलाक का जिम्मेदार कौन

0
112
Kya Bivi Se Bos Kinaar Karne Se Roza Toot Ta Hai
Kya Bivi Se Bos Kinaar Karne Se Roza Toot Ta Hai
Islamic Palace App

Talaq ka Zimmedar Kaun

तलाक का जिम्मेदार कौन

आज कल टी वी पर जो लडकिया ज़ोर ज़ोर से चिल्लाकर तलाक के मुआमले में शरीयत को ज़िम्मेदार मान रही है,

क्या उनके माँ बाप या उस लड़की ने शादी से पहले ये इंक़वायारी की थी?

के लड़के को दीन और शरीयत के बारे में पता है या नही?

पंज वक़्ता नमाज़ी है या नही?

पुख्ता ईमान वाला है या नही?

आशिक़े रसूल है या नही?

रिज़्क़े हलाल कमाता है या नही?

हराम की कमाई तो नही कमाता कही?

कुछ मसला हुवा तो इस्लामी शरीयत के दायरे में रहकर डिसीजन लेना इसे आता है या नही?

Also Read : मुस्लिम महिलाओं के पास तीन तलाक से भी बढ़कर है एक अधिकार जानिए क्या

नही! ऐसी इंक़वायरी कोई माँ – बाप या लड़की नही करती,

सब यही देखते है के कमाता कितना है?

हलाल ,हराम से कोई मतलब नही बस कमाता कितना है?

दिखता कैसा है?

घुमाएगा फिरायेगा के नही?

गैर मर्दो से बात करने में टोकेगा तो नही?

दाढ़ी वाला तो नही है ना?

या

दाढ़ी बढ़ाएगा तो नही?

पार्लर जाने देगा या नही?

Also Read : ट्रिपल तलाक केस: तीन तलाक देना पड़ेगा महंगा, 3 साल की सजा और गैरजमानती अपराध

अरे प्यारी बहनों

अगर इस से बेहतर ये देख लेती के

दीन वाला है या नही?

असली मोमिन व सच्चा आशिक़ के रसूल है या नही?

कमाई हलाल है या नहीं?

जिसको ये तो मालूम होता के बीवी के हुक़ुक़ क्या है?

रिश्ते का अदब क्या है?

और तलाक देने का सही तरीका क्या है?

और तलाक कितनी बुरी बात है?

Also Read : जानिए तलाक़ की शरई इजाज़त क्या है

अरे

जब तुम खुद ही फिल्मी Actor बनकर दूल्हा ढूंढ़ने निकली हो तो

तुम्हे दूल्हा भी ऐसा ही मिलेगा ना?

तुम्हे एक वफादार सोहर कैसे मिलेगा?

अगर शरीयत का पाबंद इंसान ढूंढती तो तलाक़ तक बात ही ना पहुचती !

जब शादी करते वक़्त शरीयत याद नही आई तुम्हे और तुम्हारे माँ- बाप को तो
आज क्यों शरीयत पर उँगली उठाते हो?

तुमने खुद ही पसंद किया ऐसा घर जिसमे शरीयत ही किसी को पता नही !

तो,वो तीन क्या? तीन सौ भी तलाक एक साथ दे देगा,

उसे क्या पता?

एक एक देनी है,या
एक साथ देनी है?

उसे क्या? पता के
तलाक से अल्लाह नाराज़ होता है।
और आज तुम शरीयत पर उंगलिया उठा रही हो…..

Also Read : जानिए तलाक़ माँगने का अज़ाब और, महर माफ़ करने का क्या सवाब है

तुम खुद भी ज़िम्मेदार हो इस हालात के।

अगर हर लड़की के माँ- बाप ये तय कर ले के,
वो शरीयत के पाबंद और नमाज़ी को ही अपनी बेटी देंगे, वरना नही देंगे,

तो देखना बीवी नही मिलेगी इस डर से थोड़े दिन में ही लड़के शरीयत पर चलने लगेंगे,

और इंशाअल्लाह शरीयत पर चलने वाले मिया बीवी तो कभी भी परेशानी में नही दिखते,
बल्कि सबसे ज़्यादा खुशहाल रहते है।

क्यो की वो अपने ऊपर के हुक़ुक़ खूब जानते है,
फिर तलाक तो बहुत दूर की बात हो जाएगी इंशाअल्लाह अल्लाह…..

अल्लाह हम सब को सही रास्ते पर अमल करने की तौफीक अता फरमाए आमीन

For More Msgs Click This Link
www.islamicpalace.in

बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजर-ए-अज़ीम ज़रूर देगा
आमीन

►जज़ाकअल्लाह खैरन◄

PLEASE SHARE

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.