इमाम अबू हनीफा का अक़ीदा

0
179
Quraani ayaat aur ahadeese Nabweeyyah Ke Application Mobile Se (delete) karne ka huqm hai?
makka
Islamic Palace App
IMAM ABU HANEEFA KA AQIDAH
1.यहूद व नसारा अपने मौलवी और दरवेशों का कहा मानते थे इस लिये अल्लाह इन्हे मुशरिक खरार दिया.
और मोमिनो को हुक्म दिया की बड़ो का काल मत पूछ बल की यह पूछो अल्लाह और इस के रसूल का की हुक्म है
(Ref from Hanafai Fiqh: Alamgiri Jild-1 page No : 12)
2. वाली की क़ब्र बुलंद माकन बनाना और चिरज जलना बिद्दत व हराम है.
(Ref from Hanafai figh : Durani Jild-4 page No :123&Hidiya Jild-4 Page No : 52)
3. क़ब्र को बोसा देना (चूम न) हराम है यह नसारा की आदत है.
(Ref from Hanafai Fiqh : Durr E Mukthar Jild-4 page No : 230)
4. अम्बिया व अवलिया के क़बरों को सजदा करना,तवा करना, नज़राने चढ़ाना हराम व कुफ्र है.
(Ref from Hanafai Fiqh : Durr E Mukthar Jild-1 page No : 53)
5. जो वाली की क़ब्र की ज़ियारत के लिये सफर करता है वह जहेल व काफिर है.
(Ref from Hanafai Fiqh : Durr E Mukthar Jild-2 page No : 529)
6. गैरुल्लाह की मन्नत मानना शिर्क है और इस मन्नत का खाना हराम है
(Ref from Hanafai Fiqh : Bahesti Zaver baab-3 page No :65)
7. जिस जानवर पैर गैरुल्लाह का नाम पुकारा गया हो और ज़ुबाह किये वक़्त बिस्मिल्लाह अल्लाह हूँ अकबर कहा हो तो हूँ ज़बह हराम है.
(Ref from Hanafai Fiqh : Durr E Mukthar Jild-1 page No : 249&273)
8. दुआ,बा हक़ नबी और वाली (बाशऊर वसीला) मांगना मकरू है इस लिये की मख्लूक़ का कुछ हक़ अल्लाह पर नहीं.
(Ref from Hanafai Fiqh : Hidaya page No : 226).

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.