मफ़हूम-ए-हदीस: शबे-क़द्र की दुआ

0
377
Mafhum-e-Hadith: Shab-e-Qadr ki dua
dua
Islamic Palace App

Mafhum-e-Hadith: Shab-e-Qadr ki dua

मफ़हूम-ए-हदीस: शबे-क़द्र की दुआ

बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम

मफ़हूम-ए-हदीस: शबे-क़द्र की दुआ

اللَّهُمَّ إِنَّكَ عَفُوٌّ تُحِبُّ الْعَفْوَ فَاعْفُ عَنِّي

ऐसा रज़ि अल्लाहु अन्हा ने फ़रमाया या रसूल-अल्लाह (सललल्लाहू अलैही वसल्लम) अगर

मुझे शबे-क़द्र मिल जाये तो क्या दुआ करु तो आप (सललल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फ़रमाया कहो

اللَّهُمَّ إِنَّكَ عَفُوٌّ تُحِبُّ الْعَفْوَ فَاعْفُ عَنِّي

अल्लाहुम्मा इन्नका अफुव्वुन तुहिब्बुल-अफवा, फाफू अन्नी

तर्जुमाः या अल्लाह तू माफ़ करने वाला है और माफ़ करने को पसन्द करता है इसलिए मुझे माफ़ फरमा

(सुनें इब्न मजह, भाग 3, 731-सहीह)

आईशा रदी अल्लाहू अन्हा ने फरमाया या रसूल-अल्लाह (सललल्लाहू अलैही वसल्लम) अगर मुझे शब-ए-क़द्र मिल जाए तो क्या दुआ करू तो आप (सललल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया कहो

अल्लहुम्मा इन्नका अफुव्वुन तुहिब्बुल आफ़वा फाअफू अन्नी

या अल्लाह तू माफ़ करने वाला है और माफ़ करने को पसंद करता है इसलिए मुझे माफ़ फरमा

(सुनन इब्न माज़ा, जिल्द 3, 731-सही)

عائشہ رضی اللہ عنہ نے فرمایا یا رسول الله صلی اللہ علیہ وسلم اگر مجھے شب قدر مل جائے تو کیا دعا کروں تو آپ صلی اللہ علیہ وسلم نے فرمایا کہو

اللَّهُمَّ إِنَّكَ عَفُوٌّ تُحِبُّ الْعَفْوَ فَاعْفُ عَنِّي

یا اللہ تو معاف کرنے والا ہے اور معاف کرنے کو پسند کرتا ہے اس لئے مجھے معاف فرما

سنن ابن ماجہ جلد ٣ حدیث ٧٣١

It was narrated from ‘Aisha Radi Allahu Anha that she said O Messenger of Allah, what do you think I should say in my supplication, if I come upon Laylatul-Qadr?” He Sallallahu Alaihi Wasallam said: “Say:

Allahumma innaka afuwwun tuhibbul-afwa, fafu anni

(O Allah, You are Forgiving and love forgiveness, so forgive me).

(सुनें इब्न मजह, किताब 34, हदीस 24-सहीह)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.