नबी की बेटी, भतीजी और बीवी

7
12414
NABI KI BETI, BHATIJI AUR BIWI
Mecca and Madina
Islamic Palace App

NABI KI BETI, BHATIJI AUR BIWI

नबी की बेटी, भतीजी और बीवी

हिकायत:-

एक रोज़ हज़रात हफ्सा रदी-अल्लाहु-तआला-अन्हा ने हज़रात सफिया रदी-अल्लाहु-तआला-अन्हा से कह दिया की, तू यहूदी की बेटी हैं!

हज़रात सफिया रोने लगी! इतने मे हुज़ूर( सल्लल्लाहु-तआला-अलैहि-वसल्लम) तशरीफ़ ले आये और दरयाफ्त फ़रमाया,

सफिया क्यों रो रही हो? उन्हने अर्ज़ किया, या रसूलल्लाह! हफ्सा ने मुझे यहूदी की बेटी कहा हैं!

हुज़ूर सल्लल्लाहु-ताआला-अलैहि-वसल्लम ने फ़रमाया,

सफिया तुम रोती क्यों हो? तुम तो नबी की बेटी हो, नबी की भतीजी हो और नबी की बीवी हो! यानी तुम्हरे बाप हारून अलैहि सलाम हैं,

चाचा मूसा अलैहि सलाम हैं और खाविंद (शोहर) मैं हूँ! फिर यह हफ्सा तुम पर किस बात का फख्र करती हैं?

फिर हुज़ूर सल्लल्लाहु-तआला-अलैहि-वसल्लम ने हज़रात हफ्सा से मुखातिब हो कर फ़रमाया, ए हफ्सा! अल्लाह से डरो और ऐसी बात न करो!

(मिश्कात शरीफ, पेज 566)

सबक-

किसी मुसलमान का दिल नहीं दुखाना चाहिए!

नोट:-

मुहद्दिसीन का अज़्वाज-आ-मुत्तहिरात (हुज़ूर की बीवियां) की तादाद मे इख्तिलाफ हैं! 11 होने मे सबका इत्तिफ़ाक़ हैं, 11 से ज़्यादा मे इख्तिलाफ हैं!

11 के नाम यह हैं-

(1) उम्मुल मोमिनीन हज़रात खदीजा,

(2) उम्मुल मोमिनीन हज़रात आईशा,

(3) उम्मुल मोमिनीन हज़रात हफ्सा,

(4) उम्मुल मोमिनीन हज़रात हबीबा,

(5) उम्मुल मोमिनीन हज़रात उम्मे सलमा,

)6) उम्मुल मोमिनीन हज़रात सौदाह,

(7) उम्मुल मोमिनीन हज़रात ज़ैनब बिन्थ जहश,

(8) उम्मुल मोमिनीन हज़रात मैमुना,

(9) हज़रात ज़ैनब बिन्थ खुजैमा,

(10) हज़रात जुवेरिया बिन्थ अल-हारिस,

(11) उम्मुल मोमिनीन हज़रात सफिया! रीढ़वानुल्लाही-तआला अलैहीन!

(मवाहिबुल लदनिया, जिल्द-1, पेज-102)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

7 COMMENTS

  1. Unquestionably believe that which you said.

    Your favourite reason seemed to be on the net the easiest thing to keep in mind of.
    I say to you, I certainly get irked while folks consider worries
    that they plainly do not know about. You managed to hit the nail upon the top as neatly as defined out
    the whole thing with no need side effect , folks could take
    a signal. Will probably be again to get more.
    Thanks

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.