इफ्तार की दावत देने वालो दुआ सुनें इब्न मजह–हदीस

0
128
Iftar Ki Dawat Dene Walo Dua Sunan Ibn Majah – Hadees
khane me barkat
Islamic Palace App

Iftar Ki Dawat Dene Walo Dua Sunan Ibn Majah – Hadees

इफ्तार की दावत देने वालो दुआ सुनें इब्न मजह–हदीस

बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम! इफ्तार

मफ़हूम-ए-हदीस: इफ्तार की दावत देने वालो को ये दुआ देना सुन्नत है

अब्दुल्लाह बिन ज़ुबैर रदी-अल्लाहु-अन्हु से रिवायत है

की रसूल-अल्लाह (सल्लाल्ल्हू अलैहि वसल्लम) ने मुआद रदी-अल्लाहु-अन्हु के वहां रोज़ा इफ्तार किया तो (उनको ये) दुआ दी की

أَفْطَرَ عِنْدَكُمُ الصَّائِمُونَ وَأَكَلَ طَعَامَكُمُ الأَبْرَارُ وَصَلَّتْ عَلَيْكُمُ الْمَلاَئِكَةُ

अफ्तार ‘इंदकुमुस-सैमुन, व अकेला तामकुमुल-अबरार, व सल्लत ‘अलैकुमुल- मलायकः

(रोज़ेदार तुम्हारे यहाँ इफ्तार करे, नेक लोग तुम्हारा खाना खाये और फ़रिश्ते तुम्हारे लिए दुआ करे)

(सुनें इब्न मजह, भाग 1 , 1747- सही)

अब्दुल्लाह बिन ज़ुबैर रदी-अल्लाहू-अन्हु से रिवायत है

की रसूल-अल्लाह (सललल्लाहू अलैही वसल्लम) ने मुआज़ रदी-अल्लाहू-अन्हु के वहाँ रोज़ा इफ़्तार किया तो (उनको ये) दुआ दी की

أَفْطَرَ عِنْدَكُمُ الصَّائِمُونَ وَأَكَلَ طَعَامَكُمُ الأَبْرَارُ وَصَلَّتْ عَلَيْكُمُ الْمَلاَئِكَةُ

(रोज़ेदर तुम्हारे यहाँ इफ़्तार करे, नेक लोग तुम्हारा खाना खाए और फरिश्ते तुम्हारे लिए दुआ करे)

(सुनन इब्न माजा , जिल्द 1,1747- सही)

عبداللہ بن زبیر رضی الله انہو سے روایت ہے کی رسول الله صلی اللہ علیہ وسلم نے معاذ رضی الله انہو کے وہاں کی رسول الله صلی اللہ علیہ وسلم نے افطار کیا تو

تو ( ان کو یہ ) دعا دی کی

أَفْطَرَ عِنْدَكُمُ الصَّائِمُونَ وَأَكَلَ طَعَامَكُمُ الأَبْرَارُ وَصَلَّتْ عَلَیْكُمُ الْمَلاَئِكَةُ

( روزہ دار تمھارے یہاں افطار کرے ، نیک لوگ تمہارا كھانا کھائے اور فرشتے تمھارے لیے دعا کرے )

سنن ابن ماجہ ، جلد ١ حدیث ١٧٤٧ صحیح

It was narrated that Abdullah bin Zubair Radi-Allahu-Anhu said: The Messenger of Allah Sallallahu-Alaihi-Wasallam broke his fast with Sa’d bin Mu’adh Radi-Allahu-Anhu and said: ‘Aftara ‘indakumus-saimun, wa akala ta’amakumul-abrar, wa sallat ‘alaikumul- mala’ikah (May fasting people break their fast with you, may the righteous eat your food, and may the angels send blessing upon you).

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.