हुरमत व अदब वाले महीने–सौराह ए तौबा, आयात नo. 36

0
94
Agar Jis Shakhsh Par Qurbani Karna Waajib Ho Aur Wo Qurbani Ke Dino Me Qurbani Na Kar Sake To Uska Kya Hukm Hai?
masjid
Islamic Palace App

Hurmat Wa Aadab Wale Mahine – Surah e Tawba, Ayaat No. 36

हुरमत व अदब वाले महीने–सौराह ए तौबा, आयात नo. 36

खुदा के नज़दीक महीने गिनती मैं बारे (12) हैं यानी उस रोज़ से के उस ने आसमानों और ज़मीन को पैदा किया.

किताब-ए-खुदा मैं बरस (one Year) के बारे (12) महीने लिखे हुए हैं. उन में से चार महीने अदब के हैं.

यह ही दीन का सीधा रास्ता है. तो उन महीनों मैं क़त्ताल न हक़ से अपने आप पर ज़ुल्म न करना.

और तुम सब के सब मुशरिकों से लारो जैसे वो सब के सब तुम से लरते हैं.

और जान रखो के खुदा परहेज़गारों के साथ है.

(सौराह ए तौबा: आयात नo. 36)

हुरमत व अदब वाले चार महीने:-

11-ज़ुल-क़दह

12-ज़ुल-हिज्जः

1-मुहर्रम

7-रजब
(तफ़्सीर इब्ने कसीर, भाग:10, पेज : 465)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.