खुवाब में अगर गोश्त नज़र आ जाये तो इसकी क्या ताबीर होगी आइये जानते है

0
343
KHUWAB MEIN AGAR GOSHT NAZAR AJAYE TO ISKI KYA TAABIR HOGI AAIYE JANTE HAI
KHUWAB MEIN AGAR GOSHT NAZAR AJAYE TO ISKI KYA TAABIR HOGI AAIYE JANTE HAI
Islamic Palace App

KHUWAB MEIN AGAR GOSHT NAZAR AJAYE TO ISKI KYA TAABIR HOGI AAIYE JANTE HAI

खुवाब में अगर गोश्त नज़र आ जाये तो इसकी क्या ताबीर होगी आइये जानते है

खुवाब में गोश्त मीट देखने की ताबीर

खुवाब में गोश्त मीट देखना कैसा?

खुवाब में अगर गोश्त नज़र आ जाये तो इसकी क्या ताबीर होगी आइये जानते है खुवाब में गोश्त नज़र आने की ताबीर

गोश्त को खुवाब में देखना कैसा और उसका खाना कैसा , इसमें एक बुनयादी बात यह है

के जितना अच्छा पका हुआ गोश्त खुवाब में कोई शख्स देखे और उसको खाये उतना ही उसके हक़ में बेहतर है

माल मिलने की मैंफियत मिलने की, अल्लाह तबारक वतला की जानिब से नेमत मिलने की दलील होती है!

इसी तरह से पका हुआ गोश्त भुने हुए गोश्त के मुकाबले में ज़ियादा बेहतर है

और भुना हुआ गोश्त खुवाब के अन्दर देखना कच्चे गोश्त को देखने से ज़ियादा बेहतर है!

अलबत्ता खुवाब के अन्दर गोश्त की खरीदो फरोख्त करना ये बेहतर नहीं है अगर कोई शख्स है

के वो कसाई के पास गया है उसने गोश्त ख़रीदा है उसको इसकी कीमत अदा की और वो लेकर आया है

तो ये ताबीर के ऐतेबार से बेहतर नहीं है उसे किसी तरह का गम लाहक़ होगा

किसी गम की कैफियत में वो मुब्तला होगा या कोई ऐसे खबर उसे पुहंचेगी या ऐसा काम उसे सरज़द होगा

जिससे वजह से वो गम में मुब्तला हो सकता है!

मुख्तलिफ एशिया का गोश्त खाना ये भी मुख्तलिफ है अगर कोई देखता है

के सांप का गोश्त खाना अज़्दहा का गोश्त खता है,

तो दुश्मन पे ग़लबा पायेगा और नफा हासिल करेगा!

इसी तरह से अगर कोई शख्स देखता है के ऊँट का गोश्त खाता है तो यह भी बेहतर नहीं है,

अलबत्ता ऊँट के बचे का गोश्त खाता हुआ अगर आपने आप को खुवाब में देखता है तो ये एक बढ़ी अजीब ताबीर है

के वो शख्स जो है माले यतीम को खायेगा और नुकसान उठाएगा!

तो ये ताबीर के ऐतेबार से बेहतर नहीं है

ऊँट के बच्चे का अगर कोई शख्स देखता है खुवाब के अन्दर खाता है,

तो उसको अपने मामलात के पर गौर करना चाहिए विरासत के अन्दर बाज़ अवक़ात मामलात होते है

बाज़ अवक़ात और भी ऐसी सूरत हो सकती है

के वो यतीमो की किफ़ालत करता हो या किसी तरह से यतीमो के माल से उसका ताल्लुक हो

तो खास तौर पर उसे उस माल के बारे में गोरो फ़िक्र करने की ज़रूरत है और अपनी इस्लाह करने की हाजत है!

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.