दुरुद शरीफ की फ़ज़ीलत

0
106
HAZRAT DAWOOD KI DEATH PER LOGOUN KA DUKH:
Quran
Islamic Palace App

DURUD SHARIF KI FAZILAT

दुरुद शरीफ की फ़ज़ीलत

अमृरूल मोमिनीन हज़रते सय्यदना फ़ारूक़ी आज़म رَضِيَ اللّٰهُ تَعَالٰی عَنهُ ने फ़रमाया:

“दुआ आसमान वे ज़मीन के दरमियान मुअल्लक़ रहती है उसमे से कुछ भी ऊपर नहीं चढ़ता,

जब तक तू अपने नबी पर दुरुद न भेजे!”

(सुनतुत्तिरमीज़ी जिल्द २सफ़्हा 29 हदीस: 486)

मुफ़स्सिरे शहर हकीमुल उम्मत हज़रते मुफ़्ती अहमद यार खान عَلَيهِ رَحمَةُ الحَنَّان इस हदीसे पाक के तहत फरमाते है:

इससे मालूम हुआ (की) दुरुद दुआ की क़बूलिययत बल्कि बारगाहे इलाही में पेश होने का ज़रिए है!

(मीर अतुल मानजीह जिल्द 2 सफ़्हा 108)

صَلَّو عَلَی الحَبِیب ا صَلَّی اللّٰهُ تَعَالٰی مُحَمَّد

اسلامُ علیڪم दोस्तों इस ब्लॉग में दिनी मसाइल रूहानी इलाज घरेलु इलाज और भी बहुत कुछ है

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.