खुवाब में कब्रिस्तान और कबर नज़र आने की ताबीर

0
334
KHUWAB ME KABRISTAN AUR KABAR NAZAR AANE KI TAABIR
KHUWAB ME KABRISTAN AUR KABAR NAZAR AANE KI TAABIR
Islamic Palace App

KHUWAB ME KABRISTAN AUR KABAR NAZAR AANE KI TAABIR

खुवाब में कब्रिस्तान और कबर नज़र आने की ताबीर

खुवाब में कब्रिस्तान देखना कैसा? इसकी ताबीर क्या है आइये जानते है खुवाब में कब्रिस्तान देखने की ताबीर

एक बहन को नींद नहीं आती है रातो को, और खुवाब में उनको कब्रिस्तान दिखते है, इसकी ताबीर क्या है,

आइये जानते है खुवाब में कब्रिस्तान देखने की ताबीर

खुवाब में कब्रिस्तान देखने की ताबीर यह है

इन्होने पहले तो अपना मसला बयान किया है के रातो को अक्सर इनको नींद नहीं आती है,

फिर एक खुवाब भी बयान किया है के खुवाब में कब्रिस्तान और कब्रे नज़र आती है! रात को नींद न आना यह एक बहुत बढ़ा मसला है,

और नींद अल्लाह तबारक वाताला का एक बहुत बढ़ा इनाम है, बहुत बढ़ा अतिया है,

के इंसान को रात को नींद सही न हो तो उसके दिन भर के मामलात डिस्टर्ब होते है,

नींद आना बहुत ज़रूरी है, इसके लिए आपको एक वज़ीफ़ा अर्ज़ कर देता हूँ,

जो भी इस्लामी भाई या जो भी इस्लामी बहन जिनका यह मसला हो रात को नींद न आती हो तो जब अपने बिस्तर पर जाएं तो एक मर्तबा आयते दुरूद पढ़लें,

आयते दुरूद क्या है اِنَّ اللّٰهَ وَمَلآءِکَتَه یُصُلُّونَ عَلَی النَّبِیّ یٰآَيُّهَاالَّذِينَ اٰمَنُوا صَلَّوا عَلَيهِ وَسَلِّمُوا تَسلِيمًا ये आयते दुरूद है और दुरूद शरीफ पढ़लें إن شا الله عز وجل नींद आ जायेगी!

इसके इलावा शेके तरीकत अमीरे अहले सुन्नत का अत करदा शजरा मुबारक जो के हर इस्लामी भाई अत्तारी क़ादरी हो अमीरे अहले सुन्नत का मुरीद हो उसे यह शजरा पड़ने की इजाज़त है,

इस शजरे में अमीरे अहले सुन्नत ने सोते वक़्त के कुछ आमाल बयान फरमाए है के रात को हमें ये ये काम करना चाहिए,

इससे बहुत ज़ियादा फ़ायदा होता है

(सफ़्हा नo. 21)

पे बयान फरमाते है के सोते वक़्त के आमाल यह है,

आयतुल कुर्सी एक बार पढ़ले तो अल्लाह عز وجل की तरफ से सुबह तक के फरिश्ता मुक़र्रर हो और शैतान करीब नहीं आएगा,

सोते वक़्त आयतुल करनी पड़ने का क्या फ़ायदा है? के शैतान करीब नहीं आएगा, जब शैतान करीब नहीं आएगा जब तो जो बुरे बुरे खुवाब आते है

डरावने खुवाब आते है परेशान करने वाले मामलात है

तो उन सबसे إن شاء الله عز وجل नजात मिल जाएगी!

इसके साथ साथ तस्बीहे फातिमा رضي الله تعالى عنها अगर पढ़लें यानी 33 बारسبحان الله , 33 बार أل حمدولله 34 बार الله أكبر यह पढ़लें तो इसका फायदा यह होगा

के उभा खुश खुश उठे और दीगर बेशुमार फायदे हासिल होंगे!

तो अमीर अहले सुन्नत ने ऐसे 7 वज़ईफ़ मुरत्तब फरमाए है,

जो रात को सोते वक़्त हर अत्तारी इस्लामी और इस्लामी बहन को पढ़ लेने चाहिए!

तो आप शजरा मुबारक हर वक़्त अपने पास रखें तो इसकी भी आप को बेशुमार बरकते हासिल होंगी,

और जो इसमें रात को पढ ने के आमाल दिए है वह पढ़ लिया करें और जो सुबह पढने के आमाल दिए है तो उसे सुबह पढ़ लिया करें!

वो हम में से बहुत सारे ऐसे होंगे जिन यह खुवाहिश होगी के हमारी आँख तहज्जुद में खुल जाये,

फजर की नमाज़ के कुछ देर पहले हमारी आँख खुल जाये, हम अल्लाह की बारगाह में सजदह कर सकें,

नमाज़े तहज्जुद अदा कर सकें, मगर बावजूद कोशिश के हमारी आँख नहीं खुलती होगी,

तो इस शजरा मुबारक में अपनी मर्ज़ी से उठ जाने का भी वज़ीफ़ा मौजूद है!

यानी अगर आप रात के किसी भी हिस्से में उठना चाहते है,

तो सूरए कहफ़ की आखरी आयते (اِنَّ الَّذِينَ اٰمَنَهُ ) से लेकर खत्म तक पढ़लें

तो रात में या सुबह के जिस वक़्त में जागने की निय्यत से पड़ेंगे إن شاء الله عز وجل आप की आँख खुल जाएगी!

दूसरा मसला इनका यह था रात में इनको खुवाब में कब्रिस्तान और कब्रे नज़र आती है, खुवाब में कब्रिस्तान दिखना और कब्रे दिखना इसकी अलामत यह है

मौत से आगाह किया जारहा है, मौत कबि भी आसक्ति है, मरने से पहले पहले मौत की तैयारी कर लें,

अगर गुनाह गार है बाँदा तो अपने गुनाहों से सच्ची पक्की तौबा कर ले, अगर बे नमाज़ी है

तो आज से नमाज़ की निय्यत करलें 5 वक़्त की नमाज़ बा जमात अदा करें अल्लाह और उसके रसूल صلى الله تعالى عليه وسلم को माना लेने में लग जाएं,

और हफ्ते दवाते इस्लामी के हफ्तावार इज्तिमा में जाने की निय्यत कर ले,

दीन के काम में भाव चढ़ कर हिस्सा लें! والله تعالى أعالم

अगर किसी भी जगह कमी बेशी पाएं तो हमारी इस्लाह फरमाए,

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.