रोज़े में प्यास न लगने का वज़ीफ़ा

0
391
kya Gair Ramzan mein tarawih Tahajjud Ki Namaz Ko Kaha gaya Hai?
ramzan
Islamic Palace App

ROZE ME PYAS NA LAGNE KA WAZIFA

रोज़े में प्यास न लगने का वज़ीफ़ा

अगर सेहरी में पानी के आखरी 3 घोंट में सुब्हानल्लाह, अल्हम्दुलिल्लाह, जज़कल्लाह पढ़ लिया जाये तो प्यास नहीं लगती,

आप भी यद् रखें दुसरो को भी बताये! जज़कल्लाह~रमज़ानुल मुबारक शदीद गर्मी के मौसम में है

प्यास की शिद्दत महसूस न हो इस लिए सहरी में दही रोटी खाए

थोड़ी देर बाद ग्रीन इलाइची का क़हवा पियें क़हवा बनाने का तरीक़ा

50 ग्राम शकर

05 ग्राम चाय की पत्ती

03 इलाइची ग्रीन इस को खूब अच्छी तरह उबले गरम गरम पिए

नोट: इस पर कोई हवाला दलील मौजूद नहीं है,

आप अक़ीदा रख कर करे इन्शाअल्लाह फायदा होगा तालिब-ए-दुआ

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.