रसूल अल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने शाबान के आख़री दिन में वाज़ फ़रमाया

0
356
रसुलूलाह सल्लाहु आलिहि वसललम ने शाबान के आख़री दिन में वाज़ फ़रमाया
रसुलूलाह सल्लाहु आलिहि वसललम ने शाबान के आख़री दिन में वाज़ फ़रमाया
Islamic Palace App

Rasool Allah Sallallahu Alaihi Wasallam Ne Shaban Ke Akhri Din Me Waz Farmaya

रसूल अल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने शाबान के आख़री दिन में वाज़ फ़रमाया

ऐ लोगो। तुम्हारे पास अज़मत वाला बरकत वाला महीना आया

वह महीना जिसमें एक रत हज़ार महीनों से बेहतर है।

उसके रोज़े अल्लाह तआला ने फ़र्ज़ किये

और उसकी रात में क़ियाम (इबादत) सुन्नत।

जो इसमें नेकी का कोई काम करे तो ऐसा है जैसे

और किसी महीने में फ़र्ज़ अदा किया और इसमें फ़र्ज़ अदा किया

तो ऐसा है जैसे और दिनों में सतर फ़र्ज़ अदा किए।

यह महीना सब्र का है और सब्र का सवाब जन्नत है।

और यह महीना हमदर्दी और भलाई का है।

इस महीने में मोमिन का रिज़्क़ बढ़ाया जाता है।

जो इसमें रोजदार को इफ्तार कराये उसके गुनाहों के लिए मग़फ़िरत है,

और उसकी गर्दन आग से आजाद कर दी जायेगी

और इस इफ्तार करने वाले को वैसा ही सवाब मिलेगा

जैसे रोजा रखने वालो को मिलेगा बगैर इसके की उसके अर्ज में से कुछ काम हो।

अल्ल्हा तआला यह (रोज़ो इफ्तार कराने का) सवाब उस शख़्स को देगा,

जो एक घुट दूध या एक ख़ुरमा (खजूर या छुआरा) या एक घुट पानी से इफ्तार कराए

या जिसने रोजदार को भरपेट खाना खिलाया,

उसको अल्ल्हा तआला मेरी हौज से पिलायगा की कभी प्यासा न होगा यहाँ तक की जन्नत में दाखिल हो जाए।

यह वह महीना है कि इसका अव्वल (शुरू के दस दिन) रहमत है

और इसका औसत (दरमियान के दस दिन) मग़फ़िरत है और इसका आख़री जहन्नम से आज़ादी है।

जो अपनी गुलाम पर इस महीने में तख़फ़ीफ़ करे

यानि काम में कमी करे अल्ल्हा तल्लाह उसके बख़श देगा

और उसे जहन्नम से आज़ाद फ़रमायेगा।

(रमज़ानुल मुबारक,

फजाइल और मसाइल,

बेहकी शोअबुल इमान में सलमान फ़ारसी ﷺ से रिवायत,

सफ़ा न० 6)

Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें…

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace  को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

 

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.