हिकायत (नबियों के बारे में) रू-ऐ-ज़मीन की इब्तेदा – पोस्ट-1

0
98
Hiqayat (Nabiyon ke Bare Mein) Roo-E-Zameen Ki Ibteda
Hiqayat post-1 Roo-e-ameen ki ibteda
Islamic Palace App

Hiqayat (Nabiyon ke Bare Mein) Roo-E-Zameen Ki Ibteda -post -1

हिकायत (नबियों के बारे में) रू-ऐ-ज़मीन की इब्तेदा – पोस्ट-1

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम। अस्सलामु अलैकुम व रहमतुल्लाहि बरकतहु
अल्लाह के नाम से शुरू जो तमाम जहानो को बनाने वाला और उसे पालने वाला है।
और दुरूदो सलाम हो उसके आखरी नबी रसूलल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) पर…

अल्लाहु आलम (अल्लाह ही बेहतर जनता है) के खिलकत का आगाज़ किस अफ़राद से हुआ। या किया गया। लेकिन रिवायतों में आता है के अल्लाह तआला ने रू-ऐ-ज़मीन की इब्तेदा में सब से पहले कलम (पेन) को पैदा किया, रिवायतों में है की ज़मीन की तखलीख (बनाने के 50,000 हज़ार साल पहले अल्लाह तआला ने क़लम (पेन) को पैदा किया।

अल्लाह तआला ने क़लम (पेन) को हुक्म दिया “लिख (write) तोह सब से पहले क़लम (पेन) ने बिस्मिल्लाह हीर रहमानिर रहीम लिखा यानी की अल्लाह के नाम से शुरू जो कि बहुत रहें करने वाला और बहुत मेहरबान है (अल्लाहु आलम)

अल्लाह तआला ने फिर हुक्म दिया, “लिख (Write)! इस पर क़लम ने अर्ज़ किया, “ऐ मेरे रब ! क्या लिखू? अल्लाह तआला ने हुक्म दिया, “अब से क़यामत तक जो भी होने वाला है वह सब लिख दे, और क़लम ने तब से लेकर क़यामत तक जो भी होना है वह सब लिख दिया जो कि लोहे महफूज़ में दर्ज़ है

फिर अल्लाह तआला ने फ़रिश्तो को नूर से पैदा किया जिन्नातो को आग से और इंसान को मिटटी से पैदा किया फ़रिश्ते दिन-रात अल्लाह कि इबादत और हम्द-ओ-सना करते है और अल्लाह ने उन्हें जिस काम पर मामूर किया है फ़रिश्ते उसपे अमल करते है और थकते भी नहीं

अल्लाह ने हम इंसानो से पहले जिन्नातो को आग से बनाया और उन्हें ज़मीन का खलीफा (वारिस) बनाया इब्लीस जो कि जिन्नातो में से था उसका नाम अजाजिल था और वह बहुत इबादत गुज़र था इसी वजह से वह अल्लाह के मुक़र्रब बन्दों में से था यहाँ तक कि वह जन्नत में भी बे रोक-टोक आया जाया करता था।

अल्लाह तआला ने जिन्नातो को अपनी इबादत के लिए बनाया था लेकिन जिन्नात सिरकष हो गए और ज़मीन पर फसाद करने लगे क़तल-ओ-गैरत करने लगे।

अल्लाह ने फ़रिश्तो से कहा, “मे इंसान को ज़मीन का खलीफा (वारिस) बनाने वाला हूँ “इस पर फ़रिश्तो ने खड़सा ज़ाहिर किया की इंसान भी ज़मीन पर फसाद करेगा और क़तल-ओ-गैरत करेगा. तेरी इबादत के लिए हम ही काफी है.
अल्लाह तआला ने कहा, “मैं जो जानता हूँ वो तुम नहीं जानते”.

अल्लाह तआला ने मिटटी के खमीर से आदम का पुतला तैयार किया एक रिवायत में है की आज जहा खाना-ऐ-काबा है, उस जगह से मिटटी ली गयी और एक रिवायत में है की सात (7) अलग-अलग जगाहों से मिटटी ले कर खमीरा तैयार किया गया. और उस से आदम का पुतला बनाया गया।

अल्लाह तआला ने फ़रिश्तो से कहा, “जब मैं इस पुतले में अपनी रूह फूकू (डालू) तो तुम सब सजदे में गिर जाना”. जब अल्लाह तआला ने आदम के पुतले में रूह डाली तोह सब ने सजदा किया सिवाए इब्लीस के

अल्लाह तआला ने इब्लीस से पुछा, “जब सब ने सजदा किया तो तूने क्यों नहीं किया?, तुझे किस चीज़ ने रोका?. “इब्लीस ने अपनी गलती नहीं मानी और तकब्बुर (घमंड) से कहा “मे इस से अफ़ज़ल (बेहतर) हूँ, तूने मुझे आग से पैदा किया और इसे सदी हुयी मिटटी (खनकती हुयी मिटटी) से पैदा किया।

अल्लाह तआला ने कहा, “निकल जा यहाँ से आज से तू राज़िम (धुतकारा) हुवा है, और तुझपे लानत है।

इब्लीस ने कहा “ऐ मेरे रब, जिस की वजह से तूने मुझे धुतकारा और लानत की, मुझे क़यामत तक मोहलत दे के मे इसे और इस की औलादो को गुमराह कारु और इन्हे तेरी राह से रोकू और मे चाहे आगे से पीछे से ऊपर से निचे से जहा से भी आऊ कोई मुझे देख न सके।

अल्लाह तआला ने कहा. “मुझे अपने जलाल की कसम, जा तुझे मोहलत दी, लेकिन मे तुझे और जो तेरी पैरवी करेगा उन् सब को जहन्नुम में भर दूँगा और इंसानो की रहनुमाई के लिए मे अपने नबियो और रसूलो को भेजूंगा जो भी मुत्तक़ी और परहेज़गार होगा और नेक अमल करेगा मे उसे जन्नत में जगह दूँगा…

रिफरेन्स: (वर्चुअल स्टडी ऑफ़ मुहम्मद रफ़ीक, क़सास-उल-अम्बिया)

अगला पोस्ट जल्द इन्शाअल्लाह…

Read More:

एक सुन्नत के बारे में कसरत से अल्लाह का ज़िक्र करना।

जानिए हज़रत (ﷺ) ने कौनसे हाकिम अच्छे बताये है?


Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

For More Msgs Click This Link
www.islamicpalace.in

बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजरअज़ीम ज़रूर देगा
आमीन

►जज़ाकअल्लाह खैरन◄

PLEASE SHARE

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.