जिस मजलिस में अल्लाह का ज़िक्र ना किया जाये तो

4
100
Jab Tum Subah Ya Shaam Mein Dakhil Ho To Is Tarah Kaha Karo
Jab Tum Subah Ya Shaam Mein Dakhil Ho To Is Tarah Kaha Karo
Islamic Palace App

Jis Majlis Mein Allah Ka Zikr Na Kiya Jaye To

जिस मजलिस में अल्लाह का ज़िक्र ना किया जाये तो

अस्सलामु अलैकुम व रहमतुल्लाहि व बरकातहू

बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम

हज़रत अबू हुरैरह रज़िअल्लाहु अन्हु से रिवायत है की रसूलअल्लाह ने फ़रमाया”

जिस मजलिस (महफ़िल) में अल्लाह सुब्हानहु का ज़िक्र ना किया जाये

और रसूलअल्लाह पर दुरुद न भेजा जाये

उस मजलिस वाले नुकसान में है

अब अगर अल्लाह चाहे तो उन्हें अज़ाब दे और चाहे तो उन्हें बख्श दे….

(जामे तिर्मिज़ी)

Read More:

जब बन्दा कोई नेक अमल पाबन्दी से कर रहा हो

बच्चे को हज कराने का सवाब


Follow Us

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

अल्लाह तआला रब्बुल अज़ीम हम सब मुसलमान भाइयों को कहने, सुनने और सिर्फ पढ़ने से ज्यादा अमल करने की तौफीक अता फ़रमाये और हमारे रसूल  नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की बताई हुई सुन्नतों और उनके बताये हुए रास्ते पर हम सबको चलने की तौफीक अता फ़रमाये (आमीन)।

ISLAMIC PALACE को लाइक करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। जिन्होंने लाइक नहीं किया तो वह इसी तरह की दीन और इस्लाम से जुड़ी हर अहम बातों से रूबरू होने के लिए हमारे इस पेज Islamic Palace को ज़रूर लाइक करें, और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शेयर के ज़रिये पहुंचाए। शुक्रिया

For More Msgs Click This Link
www.islamicpalace.in

बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजर–ए–अज़ीम ज़रूर देगा
आमीन

►जज़ाकअल्लाह खैरन◄

PLEASE SHARE

4 COMMENTS

  1. It is the best time to make some plans for the future and it is time to
    be happy. I have learn this put up and if I may just I desire to counsel you some fascinating issues or advice.
    Maybe you can write subsequent articles referring to this article.
    I want to read even more issues approximately it!

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.